देश में थोक महंगाई दर चिंताजनक, दिसंबर माह में 13.56 फीसदी बढ़ी थोक महंगाई

लगातार 9वें महीने दोहरे अंक में रहा थोक महंगाई दर, नवंबर के मुकाबले दिसंबर महीने मामूली गिरावट, दिसंबर के लिए 13.56 फीसदी रही, दिसंबर 2020 के मुकाबले करीब 7 गुना ज्यादा

Updated: Jan 14, 2022, 06:43 PM IST

देश में थोक महंगाई दर चिंताजनक, दिसंबर माह में 13.56 फीसदी बढ़ी थोक महंगाई
Photo Courtesy: NDTV

नई दिल्ली। भारत में महंगाई ने आम जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है। कोरोना से जूझ रहे लोगों के लिए यह दोहरी मार साबित हुई है। लेकिन महंगाई से लोगों को राहत मिलती नहीं दिख रही है। दिसंबर महीने में भी थोक महंगाई दर 13.56 फीसदी के उच्च स्तर पर रही। यह लगातार 9वां महीना है जब थोक महंगाई दर दोहरे अंक में रहा।

नवंबर के मुकाबले थोक महंगाई दर में मामूली गिरावट दर्ज की गई। नवंबर में थोक महंगाई दर 14.23 फीसदी थी। साल 2020 के दिसंबर से तुलना की जाए तो दिसंबर 2021 में महंगाई दर करीब 7 गुना ज्यादा रही है। दिसंबर 2020 में थोक महंगाई दर केवल 1.95 फीसदी रही थी। कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री ने कहा है कि खनिज तेल, बेसिक मेटल्स, क्रूड पेट्रोलियम व नेचुरल गैस, फूड प्रोडक्ट्स, टेक्सटाइल व पेपर प्रोडक्ट्स इत्यादि की कीमतों में दिसंबर 2020 के मुकाबले तेजी के चलते दिसंबर 2021 में महंगाई की दर ऊंची रही।

यह भी पढ़ें: BSNL को बेच रही सरकार, घाटे में चल रहे वोडाफोन आइडिया की लेगी हिस्सेदारी

केंद्र सरकार की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर महीने में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 5.59 फीसदी पर पहुंच गई। खुदरा महंगाई से आम लोगों पर सबसे अधिक असर पड़ता है। खाद्य उत्पादों की बढ़ती कीमतों के कारण खुदरा महंगाई दर नवंबर के 4.91 फीसदी से दिसंबर में 5.59 फीसदी पर पहुंच गई है। माना जा रहा है कि महंगाई दर को देखते हुए अगले महीने आरबीआई अपनी मौद्रिक नीति में दरों को स्थिर रख सकता है।