68वां नेशनल फिल्म अवार्ड: अजय देवगन बेस्टर एक्टर, मध्य प्रदेश फिल्मों के लिए सबसे अनुकूल राज्य

68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में फिल्म की विभिन्न विधाओं और भाषाओं के सर्वश्रेष्ठ कलाकारों और फिल्म मेकर्स को सम्मानित किया जा रहा है, इस साल के फिल्म पुरस्कारों की 10 सदस्यीय जूरी का अध्यक्षता फिल्ममेकर विपुल शाह कर रहे हैं

Updated: Jul 22, 2022, 06:14 PM IST

68वां नेशनल फिल्म अवार्ड: अजय देवगन बेस्टर एक्टर, मध्य प्रदेश फिल्मों के लिए सबसे अनुकूल राज्य

नई दिल्ली। शुक्रवार को 68वें नेशनल फिल्म अवॉर्ड की घोषणा की गई। इसमें 'तान्हाजी द अनसंग वॉरियर' के लिए अजय देवगन और 'सोरारई पोटरु' फिल्म के लिए साउथ स्टार सूर्या को बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला। 'सोरारई पोटरु' फिल्म को ऑल टाइम एंटरटेनिंग फिल्म का अवॉर्ड भी मिला। जबकि बेस्ट हिंदी फिल्म तुलसीदास जूनियर रही। खास बात यह है कि इस दौरान मध्य प्रदेश को फिल्मों के लिए सबसे अनुकूल राज्य का तमगा मिला है।

68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में फिल्म की विभिन्न विधाओं और भाषाओं के सर्वश्रेष्ठ कलाकारों और फिल्म मेकर्स को सम्मानित किया गया। इस साल के फिल्म पुरस्कारों की 10 सदस्यीय जूरी का अध्यक्षता फिल्ममेकर विपुल शाह कर रहे थे। यह फिल्म पुरस्कार 2020 में सर्टिफाइड हुई फिल्मों को दिए गए हैं। 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में सामाजिक मुद्दों पर सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार 'जस्टिस डिलेड बट डिलीवर' और 'थ्री सिस्टर्स' को मिला है।

यह भी पढ़ें: लड़का-लड़की साथ न बैठें इसलिए BJP नेताओं ने कटवा दिए थे बेंच, अब एक दूसरे की गोद में बैठे स्टूडेंट्स

इस दौरान बेस्ट डायरेक्टर का पुरस्कार साची को अयप्पानुम कोशियम के लिए दिया गया। बेस्ट पॉपुलर फिल्म प्रोवाइडिंग होलसम एंटरटेनमेंट, का पुरस्कार तान्हाजी को मिला है। बेस्ट एक्ट्रेस का पुरस्कार, सोरारई पोत्रु के लिए अपर्णा बालामुरली को मिला। बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का पुरस्कार अयप्पानुम कोशियम के लिए बीजू मेनन को मिला है। जीवी प्रकाश को बेस्ट म्यूजिक का अवार्ड मिला।

बेस्ट बुक ऑफ सिनेमा का पुरस्कार द लॉन्गेस्ट किस, किश्वर देसाई को देने का ऐलान किया गया है। बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर, नचम्मा, एके अय्यपम कोशियम वहीं बेस्ट मेल सिंगर का पुरस्कार राहुल देशपांडे, मीवसंतराव फिल्म को मिला है। बेस्ट म्यूजिक डायरेक्शन का पुरस्कार विशाल भारद्वाज को 1232 किमी के मरेंगे तो वहीं जाकर गाने के लिए दिया।