काला सागर में तैनात रुसी फ्लीट के प्रमुख युद्धपोत मोस्कवा मिसाइल क्रूजर पर यूक्रेन ने किया मिसाइल से अटैक

युद्धपोत पर आग लगने के बाद चालक दल को बचाया गया, रूस ने युद्धपोत पर मिसाइल अटैक से किया इंकार, गोला बारूद की वजह से युद्धपोत पर आग लगने की बात कही 

Updated: Apr 14, 2022, 09:05 AM IST

काला सागर में तैनात रुसी फ्लीट के प्रमुख युद्धपोत मोस्कवा मिसाइल क्रूजर पर यूक्रेन ने किया मिसाइल से अटैक
courtesy: hindustan times

नई दिल्ली। 
रूस के साथ चल रहे युद्ध में यूक्रेन ने रूस को अब तक का सबसे बड़ा झटका देने का दावा किया है। यूक्रेन ने दावा किया है कि काला सागर बेड़े में शामिल रूस के प्रमुख युद्धपोत मोस्कवा को उसने मिसाइल अटैक से तबाह कर दिया है। मिसाइल अटैक के बाद युद्धपोत मोस्कवा पर आग लग गई और किसी तरह चालक दल को वहां से निकाला गया। यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के अनुसार मिसाइल अटैक से काला सागर में तैनात मोस्कवा मिसाइल क्रूजर युद्धपोत तबाह हो गया है। वहीं, रुसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि मोस्कवा मिसाइल क्रूजर पर गोला बारूद में विस्फोट होने के बाद आग लग गई और चालक दल को वहां से निकालना पड़ा। रूस ने युद्धपोत पर मिसाइल से अटैक किये जाने से इंकार किया है। 

ओडेसा के काला सागर बंदरगाह के आसपास के क्षेत्र के गवर्नर मैक्सिम मार्चेंको ने एक ऑनलाइन पोस्ट में कहा है कि मिसाइल क्रूजर युद्धपोत पर काला सागर की रक्षा में तैनात 2 नेपच्यून मिसाइलों से अटैक किया गया। मिसाइल अटैक से युद्धपोत को बहुत क्षति पहुंची है। रूस के रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को कहा था कि यूक्रेन की 36वीं मरीन ब्रिगेड के 162 अधिकारियों सहित 1,026 सैनिकों ने मारियुपोल में आत्मसमर्पण कर दिया है और बंदरगाह पूरी तरह से उसके नियंत्रण में है। 

दरअसल रूस के दक्षिण और पूर्वी यूक्रेन में अपने सैन्य अभियान को तेज करने पर यूक्रेन ने बुधवार को ही रूस को गंभीर परिणाम की चेतावनी दी थी। इसके बाद गुरुवार को यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि उसके सैनिकों ने 2 एंटी शिप मिसाइल से हमला करके रूस के काला सागर में तैनात प्रमुख युद्धपोत मोस्कवा को नष्ट कर दिया है। हालाँकि यूक्रेन ने अपने दावे की पुष्टि के लिए कोई सबूत नहीं दिया हैं।