जिपं अध्यक्ष के लिए संग्राम, दिग्विजय सिंह ने संभाला मोर्चा, कांग्रेस सदस्यों को CM हाउस में कैद करने का आरोप

भोपाल में जिला पंचायत दफ्तर के बाहर दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस विधायकों के साथ डाला डेरा, मंत्री भूपेंद्र सिंह की गाड़ी रोकी, चकमा देकर अंदर घुसे बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा

Updated: Jul 29, 2022, 01:29 PM IST

जिपं अध्यक्ष के लिए संग्राम, दिग्विजय सिंह ने संभाला मोर्चा, कांग्रेस सदस्यों को CM हाउस में कैद करने का आरोप

भोपाल। भोपाल जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर बीजेपी और कांग्रेस में संग्राम शुरू हो गया है। पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस कि ओर से मोर्चा संभाल लिया है। राज्यसभा दिग्विजय सिंह कांग्रेस विधायकों के साथ जिला पंचायत के बाहर डेरा जमाए हुए हैं। यहां हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौजूद हैं। कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने दावा किया है कि कांग्रेस के चार सदस्यों को सीएम हाउस में कैद कर लिया गया है।

जिला पंचायत के बाहर कांग्रेस और बीजेपी नेताओं का आमना सामना भी हुआ। दरअसल, मंत्री भूपेंद्र सिंह कुछ सदस्यों को अपनी गाड़ी में लेकर पहुंचे थे। यहां दिग्विजय सिंह ने उन्हें रोक लिया। हालांकि, इस दौरान बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा कांग्रेस नेताओं को चकमा देकर अंदर घुस गए। इसे लेकर कांग्रेसियों ने आपत्ति जताई।

जिला पंचायत के बाहर दिग्विजय सिंह के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, विधायक पीसी शर्मा और आरिफ मसूद भी मौजूद हैं। वह रामेश्वर शर्मा को बाहर निकालने की मांग कर रहे हैं। इस दौरान पुलिसकर्मियों द्वारा पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के साथ धक्का मुक्की की भी तस्वीरें सामने आई है। दिग्विजय सिंह ने यहां मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि, '
जिस भी कांग्रेस सदस्य ने कांग्रेस की उम्मीदवार को वोट नहीं दिया उसे मेरे जीते जी कभी कांग्रेस में आने नहीं दूंगा। आज ही उसका कांग्रेस पार्टी से निष्कासन किया जाएगा।'

दरअसल, रामेश्वर शर्मा मंत्री भूपेंद्र सिंह की गाड़ी पर बैठकर आए थे। इस दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि गाड़ी अंदर नहीं जाएगी। तभी रामेश्वर शर्मा गाड़ी से उतरकर अंदर घुस गए।

कांग्रेस का आरोप है कि सरकार के दवाब में प्रशासन ने चुनाव की टाइमिंग भी बढ़ा दी गई है। कांग्रेस की ओर से रश्मि भार्गव ने नामांकन जमा कर दिया।