अव्यवस्थाओं के कारण भीगा खरीदी केंद्रों पर अनाज, अजय विश्नोई ने फिर उठाए शिवराज सरकार पर सवाल

अजय विश्नोई ने ओलावृष्टि और बारिश के चलते फसलों और अनाजों को पहुंचे नुकसान के संबंध में सीएम शिवराज को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने प्रशासन द्वारा बरती जा रही लापरवाही को लेकर गंभीर सवाल खड़े किए हैं

Updated: Jan 11, 2022, 02:14 PM IST

अव्यवस्थाओं के कारण भीगा खरीदी केंद्रों पर अनाज, अजय विश्नोई ने फिर उठाए शिवराज सरकार पर सवाल

जबलपुर। मध्य प्रदेश में बारिश और ओलावृष्टि के कारण फसलों और अनाजों को काफी नुकसान पहुंचा है। बीजेपी विधायक अजय विश्नोई ने इस मुद्दे को उठाते हुए एक बार फिर अपनी ही पार्टी की सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है। अजय विश्नोई ने प्रशासन द्वारा बरती जा रही लापरवाही को लेकर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। पाटन विधायक ने इस संबंध में सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र भी लिखा है। 

पाटन विधायक ने सीएम शिवराज को लिखे पत्र में कहा कि बारिश और ओलावृष्टि के कारण न सिर्फ खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचा। बल्कि तुलाई के लिए खरीदी केंद्रों पर रखे गए अनाज भी भीग गए। बीजेपी विधायक ने कहा कि समय पर तुलाई न होने के चलते धान की बोरियां खुले आसमान के नीचे पड़ी हुई हैं, भीगने और सड़ने पर मजबूर हैं। 

बीजेपी नेता ने कहा कि सरकार को इस संबंध में सोचना चाहिए कि आखिर क्यों समय पर तुलाई नहीं की गई? सोसायटी की संख्या क्यों नहीं बढ़ाई गई? अजय विश्नोई ने कहा कि इस नुकसान की भरपाई करने की दिशा में सरकार को प्रयत्न करना चाहिए। 

यह भी पढ़ें : खतरा दिखाकर लोगों में डर पैदा करता है संघ, अपराध में पकड़ाए जाने पर कार्यकर्ताओं से झाड़ लेता है पल्ला: दिग्विजय सिंह

मध्य प्रदेश में बीते कुछ दिनों में ओलावृष्टि के कारण फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है। फसल नष्ट होने से प्रदेश के किसान काफी चिंतित हैं। किसान फसलों पर मुआवजे की मांग कर रहे हैं। सरकार की तरफ से सर्वे कराकर मुआवजे का आश्वासन तो दिया गया है, लेकिन किसानों की चिंता लगातार बढ़ रही है। 

यह भी पढ़ें : MP में एक दिन में कोरोना के 2300 से अधिक मामले, 22 वर्षीय युवती की हुई मौत

वहीं इस मसले पर लोग सीएम शिवराज को उनके विपक्ष में रहते वक्त की बातें याद दिला रहे हैं। सीएम शिवराज के पुराने वीडियो सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहे हैं, जिसमें वे तत्कालीन सीएम कमल नाथ पर निशान साधते हुए खुद को किसान हितैषी दर्शा रहे हैं। लोग कथित किसान हितैषी मौजूदा सीएम को उनके पुराने कथनों की याद दिला रहे हैं।