MP निकाय चुनाव: टिकट बंटवारे को लेकर BJP और कांग्रेस में असंतोष, नाराज कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा

इंदौर में कैलाश विजयवर्गीय के सामने बीजेपी कार्यकर्ताओं ने किया नारेबाजी, देवास में भी बीजेपी दफ्तर के बाहर नारेबाजी, कांग्रेस के असंतुष्ट कार्यकर्ताओं ने भी शुरू किया प्रदर्शन

Updated: Jun 19, 2022, 02:20 PM IST

MP निकाय चुनाव: टिकट बंटवारे को लेकर BJP और कांग्रेस में असंतोष, नाराज कार्यकर्ताओं का फूटा गुस्सा
Photo Courtesy: WION

भोपाल। मध्य प्रदेश में होने वाले निकाय चुनावों को लेकर कांग्रेस और बीजेपी दोनों दलों ने महापौर और पार्षद उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है। टिकट बंटवारे को लेकर दोनों दलों के कार्यकर्ताओं में असंतोष भी उभरकर सामने आने लगा है। रविवार को इंदौर में कैलाश विजयवर्गीय के सामने बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। इधर भोपाल स्थित कांग्रेस मुख्यालय के बाहर यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धरने का ऐलान किया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार सुबह 10 बजे बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पार्टी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस करने पहुंचे थे। इसी दौरान यहां नाराज कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन और नारेबाजी शुरू कर दी। विरोध को देख विजयवर्गीय आगबबूला हो गए और उन्होंने कहा कि नारेबाजी का ये तरीका ठीक नहीं।

बताया जा रहा है कि विधानसभा क्रमांक 5 के वार्ड 54 से बीजेपी से महेश बंसवाल को टिकट मिलने के विरोध में भाजपा कार्यकर्ता और रहवासी विजयवर्गीय के सामने प्रदर्शन और नारेबाजी करने पहुंचे थे। यहां वे स्थानीय वार्डवासी को उम्मीदवार बनाए जाने की मांग कर रहे थे। इसपर विजयवर्गीय ने कहा कि, 'इस बार 85 वार्डों के लिए 900 पार्षद उम्मीदवारों के आवेदन आए हैं। जिन्हें टिकट नहीं मिला है, उनमें से अधिकांश असंतुष्टों को मना लिया गया है। हम बाकी को भी मना लेंगे।'

इसके पहले शनिवार को देवास से भी इसी तरह की खबर सामने आई थी। यहां बीजेपी नेता भोजराज सिंह और उनके समर्थकों ने भाजपा कार्यालय पर जमकर हंगामा किया। इतना ही नहीं भोजराज सिंह ने खुद पर केरोसिन डालकर आत्मदाह का भी प्रयास किया। बताया जा रहा है कि वे वार्ड 25 से बाहरी के साथ ही सामान्य वर्ग की सीट पर ओबीसी को टिकट देने से नाराज थे। उन्होंने शीर्ष नेतृत्व पर पैसे लेकर टिकट बेचने का भी आरोप लगाया।

राजधानी भोपाल में तो बीजेपी के एक पूर्व पार्षद पार्टी मुख्यालय के बाहर फुट फूटकर रोने लगे। उन्होंने तस्वीरें दिखाते हुए कहा, 'मैने अटल जी के साथ गिरफ्तारियां दी है। पूरी जवानी बीजेपी के लिए बर्बाद कर दी।' सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। भोपाल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी कल जमकर नारेबाजी की। वह 'टिकटों की बंदरबांट नहीं चलेगी' के नारे लगा रहे थे। इधर जिला यूथ कांग्रेस ने आज शाम पीसीसी मुख्यालय के बाहर टिकट बंटवारे में युवाओं की उपेक्षा को लेकर धरना प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

कार्यकर्ताओं की नाराजगी के बीच पीसीसी चीफ व पूर्व सीएम कमलनाथ ने अपने आवास पर निकाय चुनावों के संभाग और जिला प्रभारियों की बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि बैठक में निकाय चुनाव के प्रबंधन पर चर्चा की जा रही है। बैठक में पूर्व नेता प्रतिपक्ष एनपी प्रजापति, चंद्रप्रभाष शेखर, पीसी शर्मा, अशोक सिंह, जेपी धनोपिया आदि उपस्थित रहे।