31 जनवरी तक बंद रहेंगे बारहवीं तक के स्कूल, कोरोना के कहर के बीच शिवराज सरकार का फैसला

शिवराज सरकार ने मेलों और रैलियों के आयोजन पर रोक लगा दी है, इसके साथ ही प्री बोर्ड एग्जाम भी घर से ही होंगे

Updated: Jan 14, 2022, 01:34 PM IST

31 जनवरी तक बंद रहेंगे बारहवीं तक के स्कूल, कोरोना के कहर के बीच शिवराज सरकार का फैसला

भोपाल। मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना के कहर के बीच शिवराज सरकार ने बारहवीं तक के स्कूलों को बंद करने का फैसला किया है। प्रदेश में 31जनवरी तक बारहवीं तक के सभी स्कूल बंद करने का एलान कर दिया गया है। इसके साथ ही प्री बोर्ड एग्जाम भी घर से ही लिए जाने का एलान हो गया है। 

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच आज सीएम शिवराज ने क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक बुलाई थी। जिसमें कुछ पाबाबंदियों को लागू करने का फैसला किया गया है। शिवराज सरकार ने प्रदेश में मेलों और रैलियों के आयोजन पर रोक लगाने का फैसला किया है।

20 जनवरी को होने वाले प्री बोर्ड एग्जाम घर से होंगे। परीक्षार्थी घर से ही प्रश्न पत्र हल करेंगे। खेल गतिविधियां 50 फीसदी क्षमता के साथ जारी रहेंगी। वहीं हॉल में भी 50 फीसदी क्षमता के साथ कार्यक्रम आयोजित हो सकेंगे। इसके अलावा धार्मिक स्थल भी खुले रहेंगे। 

मध्य प्रदेश में कोरोना बेकाबू हो गया है। गुरुवार को प्रदेश भर में कोरोना के कुल 4755 मरीज मिले। संक्रमित मरीजों में तीन शिवराज सरकार में मंत्री हैं। कमल पटेल, तुलसीराम सिलावट और विश्वास सारंग की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। 

यह भी पढ़ें : जारी है कोरोना का कहर, शिवराज सरकार के तीन मंत्री कोरोना पॉजिटिव

गुरुवार को दर्ज किए गए कोरोना के मामलों में सबसे अधिक मामले इंदौर में दर्ज किए गए। इंदौर में गुरुवार को कोरोना के कुल 1291 मरीज मिले। इसके साथ ही राजधानी भोपाल में 1008 मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई। भोपाल में दस डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं प्रदेश में इस समय कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 21,394 है। जबकि इस समय 33 मरीज आईसीयू में भर्ती हैं।