MP: नियुक्ति के इंतजार में चयनित शिक्षकों की सूखी स्याही, खून से लिखा पीएम मोदी को खत

मध्य प्रदेश के चयनित शिक्षकों ने पीएम मोदी को लिखा खूनी खत, कर रहे हैं नियुक्ति की मांग, 31 जनवरी तक रोज लिखेंगे खून से खत

Updated: Jan 24, 2022, 11:55 AM IST

MP: नियुक्ति के इंतजार में चयनित शिक्षकों की सूखी स्याही, खून से लिखा पीएम मोदी को खत

भोपाल। नियुक्ति के इंतजार में मध्य प्रदेश के चयनित शिक्षकों के कलम की स्याही सूख गई है। अब उन्होंने खून से खत लिखना शुरू कर दिया है। प्रदेश के कई चयनित शिक्षकों ने पीएम मोदी के नाम खून से खत लिखा है। चयनित शिक्षकों ने रिक्त पदों पर नियुक्तियां करने की मांग की है।

पीएम मोदी को संबोधित एक खूनी खत में लिखा गया है कि, 'मध्य प्रदेश में शिक्षक भर्ती के लगभग 14 हजार पद आज भी रिक्त है। आपसे करबद्ध निवेदन है कि 31 जनवरी तक शेष रिक्त पदों पर नियुक्ति प्रदान करें। प्रार्थी- मध्य प्रदेश सरकार द्वारा मानसिक रूप से प्रताड़ित चयनित शिक्षक।' 

चयनित शिक्षकों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर खून से कई चिट्ठियां लिखी है। प्रधानमंत्री मोदी से लेकर सीएम शिवराज, शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार को खून से लिखे अलग-अलग खत भेजे गए हैं। खत भेजने वाले विभिन्न जिलों के चयनित शिक्षक हैं जो पिछले दो वर्षों से नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। चयनित शिक्षकों ने बताया कि 31 जनवरी तक वे रोज खून से खत लिखकर पीएम, सीएम और शिक्षा मंत्री को भेजेंगे।

खून से खत लिखने वाले चयनित शिक्षकों ने हम समवेत से बातचीत के दौरान कहा कि, 'जब हम मुख्यमंत्री से नियुक्ति मांगने भोपाल आते हैं तो हमें नियुक्ति पत्र की जगह लाठियां मिलती है। गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज किए गए हैं। हमारे पास कोई विकल्प नहीं है। शिक्षकों को धीरे-धीरे मारने से अच्छा है कि सरकार हमें इच्छा मृत्यु की मंजूरी दे। सरकार हम शिक्षकों का खून वैसे भी चूस ही रही है। नियुक्ति के इंतजार में शिक्षकों के कलम का स्याही भी सूख चुकी है। तो अब हम खून से ही खत लिख रहे हैं।'