द कश्मीर फाइल्स फ़िल्म में सिर्फ झूठ दिखाए गए हैं, उस वक़्त फारुख अब्दुल्ला CM नहीं थे: उमर अब्दुल्ला

कश्मीरी पंडितों के पलायन पर बनी फिल्म द कश्मीर फाइल्स पर उमर अब्दुल्ला भड़के, कहा- ये फ़िल्म सिर्फ झूठ पर आधारित है, उस समय कश्मीर में राष्ट्रपति शासन था और केंद्र में बीजेपी की सरकार थी

Updated: Mar 18, 2022, 06:11 PM IST

द कश्मीर फाइल्स फ़िल्म में सिर्फ झूठ दिखाए गए हैं, उस वक़्त फारुख अब्दुल्ला CM नहीं थे: उमर अब्दुल्ला

नई दिल्ली। कश्मीरी पंडितों के पलायन पर बनी फिल्म द कश्मीर फाइल्स रिलीज होने के साथ विवादों में है। देशभर की बीजेपी सरकारें इस फ़िल्म के प्रचार प्रसार में जुटी हुई है। इसी बीच कश्मीर के मुख्यमंत्री रहे उमर अब्दुल्ला ने फ़िल्म को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है। अब्दुल्ला ने कहा है कि यह फ़िल्म पूरी तरह से झूठ पर आधारित है।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि द कश्मीर फाइल्स फ़िल्म में तरह-तरह के झूठ दिखाए गए हैं। मसलन उस दौरान फारूक अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री नहीं थे। तब कश्मीर में राज्यपाल शासन था। केंद्र में भी बीजेपी समर्थित वीपी सिंह की सरकार थी। 

यह भी पढ़ें: द कश्मीर फाइल्स फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री को मिली Y कैटेगरी सुरक्षा

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में एक रैली कक संबोधित करने आए उमर अब्दुल्ला ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि ये एक फिल्म है या डॉक्यूमेंट्री है। कश्मीरी पंडित अकेले नहीं हैं जिन्हें पलायन करना पड़ा या मारे गए। मुस्लिम और सिख भी मारे गए, उन्हें भी कश्मीर से पलायन करना पड़ा था और वो अभी तक नहीं लौटे हैं।

पूर्व सीएम ने इस दौरान कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस ने ही कश्मीरी पंडितों को सुरक्षित वापस लाने की कोशिशें की और अपनी भूमिका निभाई है। अगर इस तरह की फिल्में बनती हैं तो मेकर्स यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि ये लोग वापस न आएं। कश्मीर फाइल्स फिल्म के निर्माता कश्मीरी पंडितों की वापसी नहीं चाहते हैं।