पटियाला जेल में सिद्धू की सुरक्षा में भारी चूक, ड्रग्स-हथियार तस्कर के साथ बैरक में रखा

पटियाला जेल में बंद पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को लाइब्रेरी बैरक नंबर 10 में ऐसे कैदी के साथ रखा गया, जिस पर ड्रग्स और हथियारों की तस्करी से जुड़े आरोप हैं, जबकि सिद्धू ड्रग्स सिंडिकेट के हिटलिस्ट में हैं

Updated: May 22, 2022, 12:54 PM IST

पटियाला जेल में सिद्धू की सुरक्षा में भारी चूक, ड्रग्स-हथियार तस्कर के साथ बैरक में रखा

पटियाला। 34 साल पुराने रोड रेज केस में एक साल की सजा काट रहे कांग्रेस के कद्दावर नेता नवजोत सिंह सिद्धू की सुरक्षा में भारी चूक सामने आई है।सिद्धू को पटियाला जेल के अंदर लाइब्रेरी बैरक नंबर 10 में ऐसे कैदी के साथ रखा गया, जिस पर ड्रग्स और हथियारों की तस्करी से जुड़े आरोप हैं। यह इसलिए बेहद गंभीर माना जा रहा है क्योंकि सिद्धू अपने राजनीतिक जीवन में ड्रग्स का मुद्दा उठाते रहे हैं और वे ड्रग्स सिंडिकेट के हिटलिस्ट में रहे हैं।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट द्वारा एक साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाये जाने के एक दिन बाद सिद्धू ने शुक्रवार को आत्मसमर्पण किया था। शनिवार शाम करीब साढ़े सात बजे औपचारिकताएं पूरी करने के बाद सिद्धू को बैरक में बंद कर दिया गया। हैरानी की बात ये है कि सिद्धू को जिस बैरक में रखा गया, वहां पर CIA के पूर्व इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह भी कैद थे।

यह भी पढ़ें: दो महीने में 10 रुपए प्रति लीटर बढ़ाए दाम, फिर की 9.50 रुपए की कटौती, सरकार की चालाकी पर विपक्ष हमलावर

इंद्रजीत सिंह को ड्रग्स और हथियार तस्करों से साठगांठ के कारण सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। इंद्रजीत के आवास से 2017 में एके-47 सहित अवैध हथियार और नशीले पदार्थ बरामद हुए थे। इसके अलावा उसके पास से 4 किलो हेरोइन, 3 किलो स्मैक और विदेशी हथियार भी बरामद हुए थे। 

सिद्धू को जब शुक्रवार को इंद्रजीत सिंह के साथ बंद किया गया तो जेल के कर्मचारी भी अफसरों के फैसले से हैरान थे। चूंकि सिद्धू लगातार नशा तस्करों के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। पुलिस अफसर भी इस बात को मानते हैं कि पंजाब के ड्रग तस्कर के साथ सिद्धू को रखना उनकी जान के लिए खतरा है।बहरहाल मामला सामने आने के बाद आरोपी को दूसरी बैरक में शिफ्ट कर दिया गया है।