देश की मौजूदा स्थिति से डर लगता है, भारत केवल हिंदुओं का देश नहीं: नोबेल प्राइज विजेता अमर्त्य सेन

अगर कोई मुझसे पूछे कि क्या मुझे किसी चीज से डर लगता है, तो मैं हां कह दूंगा। अब डरने की वजह है। देश की मौजूदा स्थिति डर का कारण बन गई है: अमर्त्य सेन

Updated: Jul 01, 2022, 10:26 AM IST

देश की मौजूदा स्थिति से डर लगता है, भारत केवल हिंदुओं का देश नहीं: नोबेल प्राइज विजेता अमर्त्य सेन

कोलकाता। नोबेल प्राइज विजेट व अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने देश की स्थिति पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि देश की आज जो स्थिति है, उसे देखकर डर लगता है। उन्होंने कहा कि धर्म के नाम पर लोगों में बंटवारा नहीं होना चाहिए।

कोलकाता के साल्ट लेक क्षेत्र में अमर्त्य अनुसंधान केंद्र का उद्घाटन करते हुए प्रसिद्ध अर्थशास्त्री सेन ने कहा कि मुझे लगता है कि अगर कोई मुझसे पूछे कि क्या मुझे किसी चीज से डर लगता है, तो मैं हां कह दूंगा। अब डरने की वजह है। देश की मौजूदा स्थिति डर का कारण बन गई है। 

उन्होंने वहां लोगों से कहा कि, 'मैं चाहता हूं कि देश एकजुट रहे। मैं ऐसे देश में विभाजन नहीं चाहता जो ऐतिहासिक रूप से उदार था। हमें मिलकर काम करना होगा। भारत केवल हिंदुओं या मुसलमानों का नहीं हो सकता। भारत सिर्फ हिंदू नहीं हो सकता। फिर, मुसलमान भी अकेले भारत नहीं हो सकते। सभी को एक साथ काम करना चाहिए।'