मुंबई: 'गोकुलधाम कॉलोनी' में चूहे की मदद से महिला को वापस मिला 10 तोला सोना

सीसीटीवी फुटेज में कुछ चूहे बड़ापाव की थैली को कचरे के ढेर से लेकर नाले में लेकर जाते हुए नजर आते हैं। पुलिस ने नाले में बने चूहे के बिल में से थैली बरामद की तो उसमें सोने के गहने वैसे ही रखे हुए मिले।

Updated: Jun 16, 2022, 02:26 PM IST

मुंबई: 'गोकुलधाम कॉलोनी' में चूहे की मदद से महिला को वापस मिला 10 तोला सोना
Photo Courtesy: naidunia

मुंबई। चूहे कभी बिहार में पुलिस के मालखाने में रखी 8 लाख लीटर शराब पी जाते हैं तो कभी हरियाणा के फरीदाबाद में सरकारी मालखाने में रखी 30 हज़ार लीटर अंग्रेजी शराब व गांजा अफीम चट कर जाते हैं। अब चूहे ने एक महिला का खोया सोना खोजने में मदद की है। महाराष्ट्र के राजधानी मुंबई से एक रोचक घटना सामने आई है। मुंबई के दिंडोशी की गोकुलधाम कॉलोनी में चूहे की मदद से एक महिला का खोया हुआ 10 तोला सोना वापस मिल गया। 

मुंबई के दिंडोशी, मलाड की रहने वाली सुंदरी प्लानिबेल 13 जून को अपना 10 तोला सोना बैंक में जमा कराने जा रही थी। तभी उन्हें रास्ते में भूखे बच्चे मिले तो उन्होंने गलती से बिना देखे बच्चों को बड़ापाव की थैली दे दी। इसी थैली में सुंदरी का 10 तोला सोना भी रखा था और वह बस पकड़कर बैंक चली गई। जब सुंदरी को याद आया कि जिस बैग में सोना रखा था वो बड़ापाव की थैली में था। महिला घबराकर उसी जगह पहुंची जहां उसने भूखे बच्चों को बड़ापाव दिया था लेकिन तब तक वो बच्चे वहां से जा चुके थे।

महिला ने स्थानीय पुलिस थाने में सोना खो जाने की शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस त्वरित कार्रवाई करते हुए मौके पर लगे सीसीटीवी फुटेज को जांचती है। सीसीटीवी फुटेज में कुछ चूहे बड़ापाव की थैली को कचरे के ढेर से लेकर नाले में लेकर जाते हुए नजर आते हैं। पुलिस ने नाले में बने चूहे के बिल में से थैली बरामद की तो उसमें सोने के गहने वैसे ही रखे हुए मिले। दरअसल जिन बच्चों को महिला ने बड़ापाव दिए थे उन्होंने उस थैली को कचरे के ढेर में फेक दिया था।

यह भी पढ़ें: बुलडोजर ने बढ़ाई योगी सरकार की मुश्किलें, सुप्रीम कोर्ट ने मांगा 3 दिनों के भीतर जवाब

दिंडोशी पुलिस के सब इंस्पेक्टर चन्द्रकान्त घार्गे ने बताया कि, पुलिस स्टेशन के सीनियर पीआई जीवन खरात के मार्गदर्शन में एक टीम ने कचरे के ढेर में थैली की तलाश शुरू की लेकिन वह वहां नहीं मिली। फिर पुलिस ने उस कचरे के ढेर के पास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की तो पता चला कि जिस थैली की तलाश पुलिस कचरे के ढेर में कर रही है, वह एक चूहे के कब्जे में है, तब जाकर पुलिस ने चूहे के बिल से थैली निकाली जिसमें सोने के आभूषण का बैग रखा था। सुंदरी प्लानिबेल दूसरों के घरों में खाना बनाने का काम करती है और उन्होंने कई वर्षों की गाढ़ी कमाई से ये सोना बनवाया था। सुंदरी ने पुलिस को धन्यवाद दिया जिनकी मदद से उसे अपना सोना वापस मिल पाया।