अब प्रति व्यक्ति आय में बांग्लादेश ने भी भारत को पछाड़ा

साल 2007 में मनमोहन सिंह की सरकार के वक्त एक भारतीय की आय, बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति आय से दोगुनी हुआ करती थी.. 14 साल में बांग्लादेश ने भारत को प्रति व्यक्ति आय के मामले में पछाड़ दिया

Updated: May 23, 2021, 04:55 PM IST

अब प्रति व्यक्ति आय में बांग्लादेश ने भी भारत को पछाड़ा
Photo Courtesy: The Wire

नई दिल्ली। भारत को पांच ट्रिलियन इकॉनमी वाला देश बनाने के सरकारी दावों के बीच आर्थिक मोर्चे से एक बड़ी खबर सामने आई है। वित्त वर्ष 2020-21 में पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश ने भारत को प्रति व्यक्ति आय के मामले में पछाड़ दिया है। अबतक दुनिया के सबसे गरीब देशों में शुमार बांग्लादेश के लोगों की कमाई भी अब भारतीयों के मुकाबले ज्यादा हो गई है। चौंकानेवाली बात ये है कि जब देशवासियों की आय तेजी से घट रही है ऐसे समय में भी भारतीय उद्योगपतियों की अमीरी का ग्राफ ऊंचा जा रहा है। हाल ही में खबर आयी थी कि गौतम अडानी अब एशिया के दूसरे नंबर के सबसे अमीर उद्योगपति बन गए हैं।

बांग्लादेश के योजना मंत्री एमए मन्नान ने दावा किया है कि देश की प्रति व्यक्ति आय 2,064 डॉलर से बढ़कर 2,227 डॉलर यानी 1.62 लाख से ज्यादा हो गई है। जबकि भारत में मौजूदा प्रति व्यक्ति आय महज 1,947 डॉलर यानी 1.41 लाख रुपए सालाना से थोड़ा अधिक है। यह स्थिति तब है जब अमीरों की संख्या और उनके बैलेंसशीट के मामले में भारत, एशिया ही नहीं दुनिया में अपनी साख रखता है। 

यह भी पढ़ें: Forbes List 2021: महामारी के बीच हर 17वें घंटे में एक नया आदमी बनता रहा अरबपति

आर्थिक मोर्चे पर लगातार पिछड़ने को लेकर विपक्ष ने केंद्र सरकार को निशाने पर लिया है। कांग्रेस ने ट्वीट किया है, 'बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति आय भारत से ज़्यादा, पहले भारत की आय बांग्लादेश से दुगुनी थी; यदि अडानी-अम्बानी की आय हटाकर गणना करें तो आज भारत की प्रति व्यक्ति आय बांग्लादेश से आधी होगी। मोदी जी, जब आपकी सरकार मदद पर चल रही है, तब भी इन दो मित्रों की आय बढ़ रही है..?'

बांग्लादेश जिसे भारत ने ही 50 साल पहले आजाद करवाया था, अब वो भी कई मोर्चों पर भारत से आगे निकल गया है। साल 1971 में जब पूर्व पीएम दिवंगत इंदिरा गांधी ने बांग्लादेश को पाकिस्तान से अलग कर आजाद कराया था तब उसकी गिनती दुनिया के सबसे गरीब मुल्कों में होती थी। बेहद कम भूभाग और अत्यधिक जनसंख्या घनत्व तो बांग्लादेश के विकास में बाधा थे ही, प्राकृतिक आपदाओं ने भी इन पांच दशकों में उसे बुरी तरह से तबाह किया है। हालांकि, इन सब के बावजूद तमाम परिस्थितियों से लोहा लेते हुए बांग्लादेश अब न सिर्फ भारत की बराबरी कर रहा है बल्कि कई मोर्चों भारत से बेहतर है।

यह भी पढ़ें: महामारी में अच्छे दिन, दुगनी हुई अदाणी की अमीरी, मुकेश अंबानी और मालामाल

आर्थिक मोर्चे पर बांग्लादेश की यह अभूतपूर्व तरक्की पिछले कुछ सालों में ही हुई है, क्योंकि आज से लगभग 14 साल पहले यानी साल 2007 में जब भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे और यूपीए की गठबंधन सरकार थी, तब बांग्लादेश में प्रति व्यक्ति आय भारत के मुकाबले महज आधी थी।  आर्थिक जानकरों की मानें तो बांग्लादेश ने कोई आश्चर्यजनक तरक्की नहीं कर ली है, बल्कि भारत आर्थिक मोर्चे पर काफी पिछड़ा है, नतीजतन आज देश प्रति व्यक्ति आय के मामले में बांग्लादेश से भी पीछे छूट गया है।