madhya pradesh by election

About Us

एक ऐसे वक्त में जब भारतीय मीडिया जनता का भरोसा खो रही है, हम समवेत एक सशक्त और बुलंद आवाज़ बनकर आपके बीच है। हम पत्रकारिता में इसलिए हैं क्योंकि जनता और सत्ता के बीच सेतु बनने के लिए हमने इस पेशे को खुद चुना है। हमारा ध्येय आपको सजग और जागरूक रखना है। मातृभूमि हमारी आत्मा है और लोकतंत्र हमारा विचार। 

हम भारतीय लोकतंत्र के स्थापित मानदंडों के लिए प्रतिबद्ध हैं और हमारी खबरों का पैमाना जनता का हित है। खबरों के चयन से लेकर प्रस्तुति तक हम हमेशा सजग हैं कि खबर पर किसी तरह के दबाव और लालच का असर ना दिखे। एकपक्षीय पत्रकारिता के इस दौर में निष्पक्ष होकर खबर प्रस्तुत करने के लिए हमें आप सबका सहयोग चाहिए। 
हमारी गुजारिश है कि आप ना सिर्फ हमारी वेबसाइट की खबरों को सब्सक्राइब करें बल्कि अपने सुझाव भी दें और हमारा संबल भी बनें। इन विचारों की लौ को हम सदा जलाए रखना चाहते हैं। हमें आपके सहयोग की अपेक्षा रहेगी।

धन्यवाद

अमृता राय
प्रधान संपादक

अमृता राय पत्रकारिता के क्षेत्र में एक प्रतिष्ठित नाम है। उन्होंने NDTV और RSTV से एंकर-पत्रकार के रूप में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है। RSTV छोड़ने के बाद अमृता ने स्वराज एक्स्प्रेस टीवी चैनल की शुरुआत की। इस चैनल ने थोड़े ही वक्त में संवेदनशील और तथ्यपरक पत्रकारिता करते हुए अपने दर्शकों में विश्वसनीयता हासिल में सफलता प्राप्त की। 

हम समवेत अमृता की नयी पहल है। सोशल मीडिया की क्रांति पर सवार सनसनीख़ेज़, फ़ेक और विभाजनकारी सूचनाओं का ये चुनौतीपूर्ण दौर है। ऐसे में लक्ष्य पत्रकारिता के मूल सिद्धांतों पर विश्वास क़ायम रखते हुए स्वतंत्र, विचारोत्तेजक और सोशल मीडिया फ़्रेंड्ली पोर्टल की स्थापना का है।

अमृता राय स्वराज एक्सप्रेस चैनल की मैनेजिंग एडिटर रह चुकी हैं। इसके पूर्व उन्होंने राज्य सभा टीवी में एक्ज़िक्यूटिव्स प्रोड्यूसर का पदभार सँभाला था। बतौर एंकर राज्य सभा टीवी में उनका कार्यक्रम ‘सरोकार’ एक चर्चित और विख्यात टीवी शो रहा। NDTV, जी न्यूज़, स्टार न्यूज़ और BAG फिल्मस् में एंकर-रिपोर्टर रही अमृता क़रीब दो दशकों से मीडिया में सक्रिय हैं। 

हम समवेत की परिकल्पना एक प्रभावी, स्वतंत्र एवं वैकल्पिक मीडिया मंच के रूप में की गई है। हाल के दौर में मेनस्ट्रीम मीडिया का एक बड़ा वर्ग अपनी निष्पक्षता और स्वतंत्रता को समर्पित करने लिए आतुर रहा है। पत्रकारिता की आड़ में प्रॉपगैंडा और जवाबदेही की जगह एजेंडा फ़िक्सिंग को मान्यता देने के प्रयास स्पष्ट हैं। ऐसे में कोशिश है कि हम समवेत को उदार, लोकतांत्रिक मूल्यों पर क़ायम रखते हुए सशक्त मीडिया प्लेटफ़ार्म के रूप में विकसित किया जाए। एक एंकर के रूप में अमृता की पहचान दर्शकों से सीधा और प्रभावी संवाद बनाने की है। आशा है कि यही पहचान इस पोर्टल की भी बनेगी। 

हाल के वक्त में सोशल मीडिया ने लोगों के दिलों दिमाग़ पर ज़बरदस्त नियंत्रण की ताक़त विकसित कर की है। इसका इस्तेमाल लोगों की सोच को नियंत्रित करने के लिए किया जाने लगा है। मीडिया के कई संस्थान और लोग इस प्रयास में स्वेच्छा से भागीदार बन गए हैं। वो एक ऐसा सूचना तंत्र बनाने में जुटे हैं जिसमें तथ्यों और झूठ की बीच में फ़र्क़ करना बेहद मुश्किल होता जा रहा है।

ऐसे चुनौतीपूर्ण समय में पत्रकारिता मात्र एक करियर नहीं रह जाती है। यह अब लोकतंत्र की नींव का हिस्सा है। यह लोगों के संघर्षों और आकांक्षाओं का दर्पण है और कोशिश है कि सामाजिक विषमताओं को समझने के लिए, जवाबदेही तय करने के लिए और एक उदार एवं न्यायपरक व्यवस्था के लिए हम समवेत एक प्रभावी मीडिया मंच बन सकेगा ।

................................................................................................

पंकज शुक्ला
संपादक

पंकज शुक्ला मध्य प्रदेश की पत्रकारिता का एक सशक्त हस्ताक्षर हैं। ‘हम समवेत’ से जुड़ने से पहले पंकज भोपाल से प्रकाशित दैनिक 'सुबह सवेरे' में स्‍थानीय संपादक के पद पर कार्यरत रहे। दो दशक से ज्यादा की पत्रकारिता के दौरान उन्हें कई तरह के सम्मान और फेलोशिप से नवाजा जा चुका है। भोपाल के जानेमाने सप्रे संग्रहालय एवं शोध संस्‍थान की तरफ से वर्ष  2015 में उन्हें पत्रकारिता सम्‍मान से नवाजा गया और साल 2009 में कोरकू आदिवासी बच्चों में कुपोषण पर विकास संवाद संस्था की तरफ से उन्हें फेलोशिप के लिए चुना जा चुका है। सूचना का अधिकार (आरटीआई) और मप्र में इसके क्रियान्वयन पर भी उनका गहन अध्ययन है।    

पंकज के काव्य संग्रह ‘सपनों के आस-पास’ को साहित्य अकादमी की तरफ से अनुदान के लिए चयनित किया जा चुका है।  

हमारी सामाजिक,सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और आर्थिक चेतना में जल की उपस्थिति और जल संकट की पड़ताल करती उनकी पुस्तिका ‘‘पानी’’ मध्य प्रदेश में एक शोध संग्रह के रूप में जानी जाती है।

उनका काव्य संग्रह ‘‘नन्हीं बूंदों का समंदर’’ चार मि़त्रों की प्रतिनिधि रचनाओं का संकलन है। उन्हें रतलाम के डॉ. शंकरदयाल साहित्यिक पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है। 

निवास :-
ई 8/373 त्रिलोचन नगर                               
शाहपुरा, भोपाल  (मप्र) 462039                 
सम्पर्क - 9892699941   
ई मेल[email protected]

2020 © Humsamvet All Rights Reserved. Terms & Conditions, Privacy Policy