मुरलीधर राव की जेब में हैं ब्राह्मण और बनिया, कमल नाथ ने कहा बीजेपी अहंकार के नशे में चूर है

मध्य प्रदेश भाजपा के प्रभारी मुरलीधर राव का एक विवादित बयान काफी सुर्खियां बटोर रहा है, पीसीसी चीफ कमल नाथ ने भाजपा पर ब्राह्मण और बनिया वर्ग के लोगों का अपमान करने का आरोप लगाया है

Updated: Nov 08, 2021, 11:48 PM IST

मुरलीधर राव की जेब में हैं ब्राह्मण और बनिया, कमल नाथ ने कहा बीजेपी अहंकार के नशे में चूर है

भोपाल। मध्य प्रदेश भाजपा के प्रभारी मुरलीधर राव के विवादित बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पलटवार किया है। ब्राह्मण और बनिया वर्ग को लेकर की गई विवादित बयानबाज़ी की कमल नाथ ने आलोचना करते हुए कहा है कि भाजपा ने दोनों वर्ग के लोगों का अपमान किया है। कमल नाथ ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि बीजेपी इन दोनों ही वर्ग को अपनी बपौती समझती है।  

कमल नाथ ने मुरलीधर राव के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सबका साथ -सबका विकास का नारा देने वाली भाजपा के मध्यप्रदेश के प्रभारी कह रहे हैं कि हमारी एक जेब में बनिया है, एक जेब में ब्राह्मण है।यह तो इन वर्गों का घोर अपमान है, भाजपा के मुताबिक़ ये वर्ग उनकी बपौती है, उनकी जेब में है। 

कमल नाथ ने बीजेपी को आईना दिखाते हुए कहा कि जिस वर्ग ने भाजपा को खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई, भाजपा उस वर्ग का यह कैसा सम्मान कर रही है। कमल नाथ ने कहा कि भाजपा के नेता सत्ता और अहंकार के नशे में चूर हो गए हैं। यह तो पूरे बनिया व ब्राह्मण वर्ग का अपमान है।भाजपा नेतृत्व इसके लिये इन वर्गों से अविलंब माफ़ी माँगे।

पीसीसी चीफ कमल नाथ ने मुरलीधर राव के बयान पर आगे कहा कि जो लोग सबका साथ- सबका विकास का नारा देते है, वो आज एक वर्ग को फ़ोकस करने की बात कर रहे हैं और दो वर्गों का खुलेआम अपमान कर रहे है, इनकी यह कैसी मानसिकता, यह कैसी सोच है?सत्ता की हवस के लिये भाजपा किसी भी हद तक जा सकती है, इनकी नीति- नियत - सिद्धांत सब सत्ता तक ही सीमित है।

दरअसल बीजेपी नेता और मध्य प्रदेश भाजपा के प्रभारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए यह कह डाला कि मेरी एक जेब में बनिया है और दूसरे में ब्राह्मण है। भाजपा नेता के इतना बोलते ही पत्रकारों ने सवाल दागने शुरु कर दिए। पत्रकारों के सवाल से बीजेपी नेता इतने असमंजस में पड़ गए कि उन्होंने पत्रकारों से पहले पूरी बात सुनने की अपील कर डाली। लेकिन बयान बचाव करते हुए बीजेपी नेता अपनी ही पार्टी की पोल खोलते हुए यह जतला दिया कि दलित, आदिवासी वर्ग भाजपा के समर्थन में नहीं हैं। 

मुरलीधर राव ने अपने बयान के बचाव में कहा कि पहले आप लोग लिखते थे कि यह पार्टी केवल इन्हीं दोनों वर्गों की पार्टी है। लेकिन हम आगे बढ़े और अन्य वर्ग के लोगों को भी अपने साथ लाने की कोशिश की। भाजपा नेता ने कहा कि अनूसुचित जाति और जनजाति के लोगों को जितनी मात्रा में शामिल करना चाहिए, उसमें काफी कमी है। इसलिए इन वर्ग के लोगों को अपनी पार्टी में शामिल करा कर हमें पार्टी को और मज़बूत करना है।