नेता प्रतिपक्ष बनते ही ग्वालियर पहुंचे गोविंद सिंह, बोले- कांग्रेस के लिए सिंधिया कोई चुनौती नहीं

डॉ गोविंद सिंह ने पत्रकारों से कहा कि मेरेलिए यह नई जिम्मेदारी नहीं है, मैं पहले भी कार्यकर्ता था और आज भी कार्यकर्ता ही हूं

Updated: Apr 29, 2022, 06:16 PM IST

नेता प्रतिपक्ष बनते ही ग्वालियर पहुंचे गोविंद सिंह, बोले- कांग्रेस के लिए सिंधिया कोई चुनौती नहीं

ग्वालियर। मध्य प्रदेश विधानसभा के नवनियुक्त नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह शुक्रवार को ग्वालियर पहुंचे। यहां उन्होंने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस नेता ने कहा कि सिंधिया कांग्रेस के लिए कोई चुनौती नहीं हैं। इस दौरान उन्होंने आरएसएस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जिस तरह कौरवों के 100 पुत्र थे उसी तरह आरएसएस ने 150 से 200 पुत्र पैदा कर लिए हैं।

कांग्रेस विधायक दल के नेता सिंह ने कहा कि, 'मेरे लिए यह नई जिम्मेदारी नहीं है। मैं कार्यकर्ता था और अब कार्यकर्ता की हैसियत से पूरे प्रदेश में घूमने की जिम्मेदारी मिली है। अब पूरे प्रदेश में घूमकर जन समस्याओं के निवारण और उन पर निगरानी की जिम्मेदारी निभाऊंगा।' आगामी विधानसभा चुनाव में ज्योतिरादित्य सिंधिया की चुनौती पर डॉ सिंह ने कहा सिंधिया चुनौती होंगे मीडिया और पत्रकारों के लिए। कांग्रेस पार्टी के लिए सिंधिया कोई चुनौती नहीं है।अगर सिंधिया चुनौती होते ही तो वे अपने एक साधारण कार्यकर्ता से सवा लाख वोट से चुनाव नहीं हारते।

यह भी पढ़ें: शिवराज सिंह चौहान के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी बीजेपी, हार्डकोर हिंदुत्व के एजेंडे के साथ मैदान में उतरने की तैयारी

डॉ गोविंद सिंह ग्वालियर में कांग्रेस उपाध्यक्ष अशोक सिंह के घर पहुंचे थे। यहां कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। स्थानीय पत्रकारों ने सिंह से जब कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी को लेकर सवाल किया तो उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया। कांग्रेस नेता ने कहा कि यह केवल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संस्था की बनाई हुई बातें है, जिसके पीछे बीजेपी काम करती है। जिस तरह से कौरवों के 100 पुत्र थे, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने अब 150 से 200 पुत्र पैदा कर लिए हैं, जैसे विश्व हिन्दू परिषद औऱ अलग अलग नाम से।'

कांग्रेस नेता ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर कहा कि मध्य प्रदेश की जनता ने फैसला कर लिया है। जनता अब महंगाई, बेरोजगारी, अत्याचार सहन नहीं करेगी। 2023 में जनता बीजेपी को प्रदेश से उखाड़ फेंकेगी। उन्होंने दलित वर्ग को लेकर बीजेपी की हुई बैठक के विषय में कहा दलित और आदिवासी समाज हमेशा कांग्रेस पार्टी के साथ था और आगे भी रहेगा। बता दें कि गोविंद कांग्रेस के अजेय नेता माने जाते हैं। सन 1990 से उन्होंने लगातार सातवीं बार विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की है और ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के मतदाताओं पर उनका पकड़ मजबूत माना जाता है।