MP: शराब माफिया सुखराम निकला पूर्व मंत्री रंजना बघेल का भांजा, एसडीएम और तहसीलदार पर किया था हमला

पूर्व मंत्री रंजना बघेल का भांजा है सुखराम, कुक्षी में पदस्थ एसडीएम नवजीवन पंवार व डही नायब तहसीलदार राजेश भिड़े पर जानलेवा हमले का आरोप, अवैध शराब का है करोड़ों का कारोबार

Updated: Sep 14, 2022, 09:30 AM IST

MP: शराब माफिया सुखराम निकला पूर्व मंत्री रंजना बघेल का भांजा, एसडीएम और तहसीलदार पर किया था हमला

धार। मध्य प्रदेश में नेताओं और माफियाओं से सांठगांठ के चलते अवैध शराब का कारोबार खूब फल-फूल रहा है। शराब कारोबारियों के बुलंद हौसलों का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अवैध शराब से भरे ट्रक को पकड़ने गए एसडीएम नवजीवन सिंह पंवार और नायब तहसीलदार राजेश भिड़े पर माफियाओं ने जानलेवा हमला कर दिया। अब इस मामले में नया खुलासा हुआ है। दरअसल, मुख्य आरोपी सुखराम पूर्व मंत्री रंजना बघेल का रिश्तेदार निकला।

रिपोर्ट्स के मुताबिक सुखराम भाजपा की पूर्व मंत्री रंजना बघेल और उनके पति पूर्व विधायक मुकाम सिंह किराड़े का भांजा है। सुखराम के ऊपर पूर्व में भी इंदौर और धार में कई अवैध शराब के परिवहन के मामले दर्ज हैं। बताया जा रहा है कि वह गुजरात में भी अवैध शराब का खेप सप्लाई करता है। उसे भरपूर राजनीतिक संरक्षण भी मिला हुआ है। वह हर महीने 10 करोड़ रूपए से अधिक का अवैध शराब का कारोबार करता है।

यह भी पढ़ें: ठेके देकर कमीशन फिक्स करने के लिए कर्ज ले रही शिवराज सरकार: PCC चीफ कमलनाथ का गंभीर आरोप

इधर सुखराम का नाम सामने आने के बाद भाजपा नेता रंजना बघेल ने इस मामले से पल्ला झाड़ लिया है। बघेल का कहना है कि उनका कुनबा बहुत बड़ा है। कौन क्या कर रहा है इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। उन्होंने कहा कि जिस भांजे के बारे में आरोप लगाकर मुझे जोड़ा जा रहा है, उसे परिवार के लोगों ने सात माह पहले ही कह दिया था कि इस तरह के गलत काम छोड़ दे। वह अपनी मां से भी अलग रहता है। मेरे 23 भांजे हैं। मैं किसी की जिम्मेदारी लेकर नहीं चलती। मैंने खुद पुलिस अधीक्षक को फोन लगाकर कार्रवाई करने के लिए कहा है। 

बता दें कि SDM नवजीवन सिंह मंगलवार को प्रशासनिक टीम के साथ शराब से लदे एक ट्रक का पीछा कर रहे थे। ट्रक के पीछे चल रही स्कॉर्पियो में बैठे पूर्व मंत्री के भांजे सुखराम और उसके गुर्गों ने टीम को रोककर गाड़ी हमला कर दिया। उन्होंने दो हवाई फायर भी किए। इसके बाद आरोपी नायब तहसीलदार को अपनी गाड़ी में अगवा कर ले गए। पुलिस टीम पीछे लगी तो कुछ दूर ले जाकर उन्हें छोड़कर भाग गए। आबकारी विभाग के अनुसार ट्रक में गोवा, लंदन और बॉम्बे ब्रांड की विस्की की 855 पेटियां मिलीं हैं। 

मामले में कांग्रेस विधायक सुरेंद्र सिंह हनी बघेल ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। इसमें शराब तस्कारों द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों पर किए गए हमले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। साथ ही आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने धार, बड़वानी और आलीराजपुर के आबकारी अधिकारियों को भी निलंबित करने की मांग रखी गई है। उन्होंने कहा है कि आरोपियों के खिलाफ शासकीय कर्मचारी के अपहरण का भी प्रकरण दर्ज किया जाए।