Youth Protest: बेरोजगार युवाओं का पूरे प्रदेश में प्रदर्शन की चेतावनी

Job Vacancy in MP: 4 सितंबर को 4 घंटे का प्रदर्शन कर सरकार को चेताने की कोशिश, मध्यप्रदेश पुलिस समेत अनेक राज्य स्तरीय नौकरियों के लिए 3 साल से कोई वैकेंसी नहीं निकाली गई है,

Updated: Sep 01, 2020 12:04 AM IST

Youth Protest: बेरोजगार युवाओं का पूरे प्रदेश में प्रदर्शन की चेतावनी

भोपाल। आगामी वक्त में होने वाले उपचुनावों में सरकार की मुसीबतें बढ़ने वाली हैं। प्रदेश में पिछले 3 साल से पुलिस समेत अन्य विभागों में वेकेंसी नहीं आने के विरोध में युवा प्रदर्शन की तैयारी में हैं। भर्तियों की मांग को लेकर प्रदेशभर के युवा भोपाल में 4 सितंबर को आंदोलन करेंगे। युवाओं की मांग है कि प्रदेश में एमपीपीएससी, प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड, पुलिस समेत अन्य विभागों में जगह नहीं निकलने से बेरोजगार युवाओं में हताशा है। प्रदेश के युवा लंबे वक्त से सरकारी नौकरी पाने के लिए परीक्षा की तैयारियों में जुटे हैं। लेकिन अब उनके सब्र का बांध टूटने लगा है। अब प्रदेश के युवा सरकार के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं।

मध्यप्रदेश बेरोजगार युवा संघ के आह्वान पर 4 सितंबर को भोपाल में बड़ी संख्या में युवा जमा होंगे और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश पुलिस में ASI, कॉन्सटेबल और MPPSC समेत कई राज्य स्तरीय नौकरियों के लिए करीब 3 साल से कोई वैकेंसी नहीं निकाली गई है।  

बेरोजगारी की मार झेल रहे युवाओं का कहना है कि प्रदेश में बेरोजागार के चलते युवा आत्महत्या करने को मजबूर हैं। युवाओं की मांग है कि पुलिस की भर्ती परीक्षा की ऐज लिमिट बढ़ाई जाए। समय पर वैकेंसी नहीं आने से बहुत से युवा ओवरऐज हो गए हैं। युवाओं ने पुलिस भर्ती की उम्र 30 से बढ़ाकर 37 साल करने की मांग की है।

कांग्रेस नेता देवाशीष जरारिया का कहना है कि मोदी सरकार की गलत नीतियों और प्रदेश की शिवराज सरकार की गलत नीयत से युवा परेशान हैं। रोजगार नहीं मिलने से युवाओं का भविष्य अंधकारमय हो गया है। कांग्रेस नेता का आरोप है कि शिवराज सरकार रोजगार देने के लिए कुछ नहीं कर रही है। युवाओं की सुध लेने वाला कोई नहीं हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री से रोजगार मांगो तो वे पकौड़े तलने की सलाह देते हैं। और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज को विधायकों की खरीद फरोख्त से फुरसत नहीं है।