दिल्ली और गुरुग्राम में ट्विटर इंडिया के दफ़्तरों पर छापेमारी, ट्विटर पर हो रही है फ़ज़ीहत

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने की लाडो सराय और गुरुग्राम के ट्विटर दफ़्तरों पर छापेमारी, कुछ दिन पहले बीजेपी नेताओं के ट्वीट को मैनिपुलेटेड बताया था

Updated: May 24, 2021, 10:54 PM IST

दिल्ली और गुरुग्राम में ट्विटर इंडिया के दफ़्तरों पर छापेमारी, ट्विटर पर हो रही है फ़ज़ीहत
Photo courtesy: social media

दिल्ली। खबर है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ट्विटर इंडिया के दफ्तरों पर सोमवार देर शाम छापेमारी की है। दिल्ली में ट्विटर के लाडो सराय, महरौली स्थित ऑफिस और गुरुग्राम के गोल्फ कोर्स रोड ऑफिस पर यह छापेमारी हुई है। छापेमारी से एक दिन पहले पुलिस ने ट्विटर इंडिया को एक पत्र भी भेजा था, जिसमें बीजेपी नेता संबित पात्रा के ट्वीट को किस आधार पर उन्होंने मैनिपुलेटेड मीडिया बताया, यह पूछताछ हुई थी। यह भी पूछा गया था कि ट्विटर इंडिया को कांग्रेस के टूलकिट के बारे में क्या पता है।  

दिल्ली पुलिस के पीआरओ चिन्मय बिस्वाल की तरफ से मीडिया को बताया गया है कि पुलिस टीम ट्विटर के ऑफिस में नोटिस सर्व करने गई थी और यह एक रूटीन कार्रवाई थी। उन्होंने कहा कि, हम यह भी जानना चाहते थे कि कौन वो सही शख्स है जिसे नोटिस भेजा जाए क्योंकि ट्विटर इंडिया के एमडी के जवाब से हमें कोई स्पष्टता नहीं मिली थी। 

असल में बीते 18 मई को कांग्रेस के एक अंदरूनी खत को लेकर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सवाल उठाए थे। संबित पात्रा ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस कोरोना महामारी के इस भयानक दौर में भी केंद्र सरकार को घेरने के लिए विशेष टूलकिट का प्रयोग कर रही है, जिससे कि सरकार की छवि को नुकसान हो रहा है। कांग्रेस का आरोप है कि इस कथित टूलकिट में कांग्रेस के लेटरहेड का दुरूपयोग किया गया, और जालसाज़ी कर फर्जी तथ्य लिखे गए। कांग्रेस ने इस मामले में छत्तीसगढ़ में संबित पात्रा के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराया और समन भी भेजे गए। 

यह खबर ट्विटर पर सक्रिय लोगों के बीच आग की तरह फैली और सभी अपना पक्ष लिखने लगे। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'ट्विटर के दिल्ली व गुरुग्राम के ऑफिस पर छापा मरवाना भाजपा सरकार की गिरती हुई वैश्विक छवि को और नीचे गिरायेगा। ये एक अलोकतांत्रिक व घोर निंदनीय कृत्य है।

इस बीच यह भी खबर है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल टीम को ट्विटर दफ़्तर से बैरंग ही लौटना पड़ा क्योंकि कोरोनावायरस के कारण हुए लॉकडाउन में ट्विटर के कर्मचारी वर्क फ़्रॉम होम पर हैं।