ISRO ने रचा इतिहास, लॉन्च किया सबसे छोटा रॉकेट SSLV, स्कूली छात्राओं द्वारा बनाया सेटेलाइट ले जाएगा

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने सबसे छोटा रॉकेट SSLV लॉन्च कर दिया है, राकेट की ये लॉन्चिंग आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर के लॉन्च पैड से की गई

Updated: Aug 07, 2022, 10:17 AM IST

ISRO ने रचा इतिहास, लॉन्च किया सबसे छोटा रॉकेट SSLV, स्कूली छात्राओं द्वारा बनाया सेटेलाइट ले जाएगा

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने सबसे छोटा रॉकेट SSLV लॉन्च कर दिया है। राकेट की ये लॉन्चिंग आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर के लॉन्च पैड की गई। स्मॉल सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (SSLV) स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए 750 स्कूली लड़कियों द्वारा निर्मित एक उपग्रह ले जा रहा है।

एसएसएलवी 34 मीटर लंबा है, जो कि पीएसएलवी से लगभग 10 मीटर कम लंबाई है और पीएसएलवी के 2.8 मीटर की तुलना में इसका व्यास दो मीटर है। पीएसएलवी का वजन 320 टन है, जबकि एसएसएलवी का 120 टन है। पीएसएलवी 1800 किलोग्राम वजन के पेलोड को ले जा सकता है। 

देश का पहला सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल 3 जिसे 1980 में लॉन्च किया गया था, वो 40 किग्रा तक के पेलोड ले जा सकता था। यह पहली बार है जब इसरो ने एसएसएलवी लॉन्च किया है, जिसका उपयोग पृथ्वी की निचली कक्षा में उपग्रहों को तैनात करने के लिए किया जाएगा।