रघुवंश के इस्तीफे पर भावुक लालू यादव ने कहा, आप कहीं नहीं जा रहे

Raghuvansh Prasad Singh: राजद नेता लालू प्रसाद यादव के विश्वसनीय साथी रघुवंश प्रसाद सिंह का इस्तीफ़ा, रघुवंश प्रसाद ने कहा 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा, लेकिन अब नहीं

Updated: Sep 10, 2020 11:25 PM IST

रघुवंश के इस्तीफे पर भावुक लालू यादव ने कहा, आप कहीं नहीं जा रहे
Photo Courtsey : Jagran

पटना। आरजेडी के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार (10 सितंबर) को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। सिंह ने भावुक चिठ्ठी के माध्यम से लालू को कहा था कि 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा, लेकिन अब नहीं। लेकिन ऐसा लग नहीं रहा है कि इतनी आसानी से लालू उन्हें जाने देंगे। उनकी चिट्ठी के जवाब में लालू ने भी एक इमोशनल चिट्ठी लिखी है। लालू ने कहा है कि आप कहीं नहीं जा रहे, समझ लीजिए।

आरजेडी में अपने सबसे विश्वसनीय और करीबी नेता रघुवंश के इस्तीफे की खबर सुनकर लालू प्रसाद यादव काफी भावुक हो गए। उन्होंने रघुवंश के चिट्ठी के जवाब में लिखा, 'प्रिय रघुवंश बाबू, आपके द्वारा कथित तौर पर एक चिट्ठी मीडिया में चलाई जा रही है। मुझे वह विश्वास ही नहीं होता। अभी मेरे और मेरे परिवार के साथ ही राजद परिवार भी आपको स्वस्थ होकर अपने बीच देखना चाहता है।'

रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती आरजेडी चीफ लालू ने एम्स में इलाजरत रघुवंश प्रसाद के नाम लिखी चिट्ठी में कहा, 'चार दशकों में हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और यहां तक कि पारिवारिक मामलों में मिल बैठकर विचार किया है। आप जल्द स्वस्थ्य हों, फिर बैठकर बात करेंगे। आप कहीं नहीं जा रहे। समझ लीजिए। आपका, लालू प्रसाद।' 

बता दें कि गुरुवार को रघुवंश प्रसाद ने लालू के नाम चिट्ठी लिखकर आरजेडी से इस्तीफे का एलान कर दिया था।

Click: Bihar Election 2020 चुनाव से पहले रघुवंश प्रसाद सिंह का RJD से इस्तीफा

रघुवंश ने चिट्ठी में क्या लिखा ?

राजधानी दिल्ली स्थित एम्स में इलाज करवा रहे रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू प्रसाद यादव के नाम खत में लिखा था कि, 'जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा। लेकिन, अब नहीं। पार्टी नेता, कार्यकर्ता और आमजनों ने बड़ा स्नेह दिया। मुझे क्षमा करें।'