Bengaluru Violence: NIA ने बेंगलुरू हिंसा के मुख्य साजिशकर्ता को किया गिरफ्तार, 11 अगस्त के बाद से फरार था आरोपी

NIA: एनआईए की टीम ने 30 स्थानों पर मारे छापे, धारदार हथियारों के साथ SDPI और PFI से जुड़े आपत्तिजनक दस्तावेज सीज

Updated: Sep 25, 2020 10:04 AM IST

Bengaluru Violence: NIA ने बेंगलुरू हिंसा के मुख्य साजिशकर्ता को किया गिरफ्तार, 11 अगस्त के बाद से फरार था आरोपी
Photo Courtesy: Scroll

बेंगलुरू में हुई हिंसा की जांच कर रही NIA की टीम ने मुख्य साजिशकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का नाम सैय्यद सादिक है। एनआईए के अनुसार सादिक एक बैंक में रिकवरी एजेंट के तौर पर काम करता है। वह 11 अगस्त को हुई हिंसा के बाद से ही फरार था। सादिक को केजी हल्ली पुलिस स्टेशन पर हुए हमले की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 

एनआईए की टीम ने शहर के तीस स्थानों पर छापे भी मारे। छापेमारी के दौरान एयरगन, पेलेट्स, नुकीले हथियार, लोहे की रॉड्स, बहुत सारे डिजिटल डिवाइस एवं SDPI और PFI से जुड़े आपत्तिजनक दस्तावेज मिले। एनआईए ने बताया कि इन सभी सामानों का सीज कर लिया गया है। 

इससे पहले एनआईए ने बताया कि मुसलमानों के खिलाफ सोशल मीडिया पर एक कथित अपमानजनक पोस्ट के बाद 11 अगस्त कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर के बाहर एक हजार से अधिक लोगों की भीड़ इकट्ठी हो गई। जांच एजेंसी ने बताया कि यह भीड़ SDPI के राज्य सचिव मुजामिल पाशा और SDPI/PFI के दूसरे सदस्यों ने इकट्ठी की। विधायक के घर के अलावा डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशनों के बाहर भी लोग जमा हो गए। भीड़ ने पहले तोड़फोड़ की और बाद में आगजनी। इससे लोगों के जहन में डर पैदा हो गया। 

Click: Bengaluru Violence: अल्लाह के बंदों ने बचाया मंदिर

इस मामले में जहां एक तरफ एनआईए जांच कर रही है, वहीं दोनों पुलिस स्टेशनों में भी मामले दर्ज किए गए हैं। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येद्दियुरप्पा ने इस हिंसा की जांच एनआईए द्वारा कराने की घोषणा की थी। हिंसा में चार लोगों की मौत हो गई।