मुफ्त वैक्सीनेशन को लेकर यूजीसी ने दिए आदेश, पीएम मोदी को धन्यवाद देने वाले पोस्टर्स लगाएं शिक्षण संस्थान

21 जून से भारत में वयस्कों के लिए टीका मुफ्त हो गया, इसके साथ ही यूजीसी ने तमाम शिक्षण संस्थानों को मोदी का धन्यवाद देने वाले पोस्टर्स लगाने और उसे साझा करने का फरमान सुना दिया, लेकिन ज़्यादातर संस्थान यूजीसी के आदेशों का पालन नहीं कर पाए

Publish: Jun 22, 2021, 08:44 AM IST

मुफ्त वैक्सीनेशन को लेकर यूजीसी ने दिए आदेश, पीएम मोदी को धन्यवाद देने वाले पोस्टर्स लगाएं शिक्षण संस्थान

नई दिल्ली। सोमवार को देश के सभी वयस्कों के लिए टीकाकरण मुफ्त हो गया। अब अठारह वर्ष से अधिक लोगों को वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी। इसी सिलसिले में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी ने तमाम शिक्षण संस्थानों से प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद देते हुए पोस्टर्स लगाने का फरमान सुना दिया। 

रविवार को यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों, आईआईटी, उच्च शिक्षण संस्थानों को यह निर्देश दिए कि सोमवार को सभी अपने संस्थान में प्रधानमंत्री मोदी को मुफ्त वैक्सीन के लिए धन्यवाद देता हुआ पोस्टर्स लगाएं। इसके साथ ही उन्हें यह पोस्टर्स अपने संस्थान की वेबसाइट पर भी साझा करने के लिए कहा गया।

यहां तक कि यूजीसी ने बैनर का डिजिटल फॉर्मेट भी साझा किया था। जो कि हिंदी और अंग्रेज़ी दोनों ही भाषाओं में था। सभी शिक्षण संस्थानों को इसी बैनर का इस्तेमाल करने के लिए कहा गया था। यह संदेश ई मेल के जरिए भेजा गया था, जो कि ऑल इंडिया सर्वे ऑफ हायर एजुकेशन की तरफ से भेजा गया था। ई मेल में उल्लेखित कॉन्टेक्ट पर्सन यूजीसी से संबंधित था। 

रविवार को पीएम मोदी को धन्यवाद देता हुआ पोस्टर लगाने का फरमान सुनाने के बाद अगले ही दिन यूजीसी ने सभी संस्थानों से एक्शन टेकन रिपोर्ट भी देने के लिए कहा। लेकिन दिल्ली यूनिवर्सिटी सहित कुछ विश्वविद्यालयों को छड़कर ज़्यादातर संस्थानों ने बैनर नहीं लगाया।

आईआईटी से जुड़े एक अधिकारी ने एक अंग्रेज़ी वेब पोर्टल को बताया कि हमें रविवार को ई मेल भेजा गया था। हम जब सोमवार सुबह ऑफिस पहुंचे, तब हमने ये मेल देखा था। चंद घंटों में हम बैनर कैसे प्रिंट करवा लेंगे? ज़्यादातर शिक्षण संस्थान इस समय कोरोना के कारण बंद हैं।