भिलाई में नर्सिंग कॉलेज की 60 छात्राओं को फूड पॉइजनिंग, एक की मौत, दर्जनों की हालत गंभीर

छत्तीसगढ़ के भिलाई स्थित रस्तोगी नर्सिंग कॉलेज में 60 छात्राएं फूड पॉइजनिंग की शिकार हो गईं। वहीं एक छात्रा की मौत भी हुई है। सभी छात्राएं नेहरू नगर के एक निजी अस्पताल में तीन दिन से भर्ती हैं।

Updated: Aug 02, 2022, 10:22 AM IST

भिलाई में नर्सिंग कॉलेज की 60 छात्राओं को फूड पॉइजनिंग, एक की मौत, दर्जनों की हालत गंभीर

भिलाई। छत्तीसगढ़ के इस्पात नगरी भिलाई में संचालित रस्तोगी नर्सिंग कॉलेज में 60 छात्राएं फूड पॉइजनिंग की शिकार हो गईं। फूड पॉइजनिंग से एक छात्रा की मौत भी हुई है। जबकि छात्राएं नेहरू नगर के एक निजी अस्पताल में 3 दिनों से भर्ती हैं। इनमें 46 छात्राओं की हालत गंभीर है।

रस्तोगी नर्सिंग कॉलेज प्रबंधन ने अबतक यह मामला छिपाकर रखा था। हालांकि, एक छात्रा की मौत के बाद मामला सामने आया है। कॉलेज में 300 छात्राएं रहकर एएनएम और नर्सिंग की पढ़ाई करती है। सूचना पर वैशाली नगर के विधायक विद्यारतन भसीन व भिलाई महापौर नीरज पाल भी हॉस्पिटल पहुंचे। उन्होंने दुर्ग कलेक्टर से बात कर घटना की जानकारी ली।

भिलाई मेयर नीरज पाल ने दुर्ग कलेक्टर से बात की और मामले की जांच कराने की बात कही है। नीरज पाल ने निगम आयुक्त को निर्देश दिया है कि वे खुद मामले की जांच कराएं और गलती पाए जाने प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ें: पेंसिल मांगने पर मां मारती है, मोदी जी आपने मैगी भी महंगी कर दी, 6 साल की बच्ची ने लिखा PM को पत्र

जब मेयर नीरज पाल ने बीमार छात्राओं से बात की तो उन्होंने बताया कि मेस में उन्हें घटिया खाना दिया जाता था। बासी खाना खिलाया जाता था। दाल पानी की तरह होती थी। सब्जी, चावल व रोटी की क्वालिटी बिल्कुल खराब थी। बासी व खराब खाना खाने से ही उनकी तबीयत बिगड़ी है।

मेयर पाल ने आदेश दिया है कि भिलाई नगर निगम क्षेत्र में जितने भी कॉलेज व अन्य हॉस्टल हैं उसकी एक-एक करके जांच की जाए। वहां दिए जाने वाले खाने के मैन्यू और मिलने वाले खाने की जांच कर देखा जाए। यदि कहीं भी कोई कमी पाई जाती है तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाए।