दुर्ग में कोविड से दो कांग्रेस नेताओं की मौत, पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर

कांग्रेस जिला सचिव आकाश जायसवाल तीन दिन पहले कोरोना संक्रमित हुए थे, वहीं कांग्रेस नेता राहुल लहरे हार्ट को अटैक आने से मौत हो गई

Updated: Apr 07, 2021, 08:23 PM IST

दुर्ग में कोविड से दो कांग्रेस नेताओं की मौत, पार्टी कार्यकर्ताओं में शोक की लहर
photo courtesy: bhilai times

रायपुर। छत्तीसगढ़ के दुर्ग ज़िले में कोरोना की वजह से दो कांग्रेस नेताओं की मौत हो गई है। ज़िला कांग्रेस कमेटी सचिव आकाश जायसवाल तीन दिन पहले कोरोना संक्रमित हुए थे इलाज़ के लिए उन्हें हाईटेक अस्पताल भिलाई में भर्ती कराया गया था,जहां उन्होंने आज दम तोड़ दिया। वहीं युवा कांग्रेस के पूर्व महासचिव राहुल लहरे की अचानक हार्ट अटैक से मौत हो गई। उन्हें भी पहले कोविड हुआ था। 40 वर्षीय राहुल थनोद के रहने वाले थे। दोनों नेताओं की मौत से पार्टी में शोक की लहर है।पार्टी के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारीयों ने श्रद्धांजलि अर्पित की है।

ज़िला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता नासिर खोखर ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि "दोनों ने कांग्रेस पार्टी का झंडा उठाया। पार्टी में रहकर ईमानदारी एवं जुझारू कार्यकर्ता के रूप में काम करते रहे, उनके न रहने का दुख है।

उल्लेखनीय है कि मगंलवार को गरियाबंद जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष ममता राठौर की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई थी। वे असम में कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार करने गई थीं। वहां से लौटने के बाद कोरोना जांच कराई जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। कोविड ने ुन्हें भी लील लिया। इस तरह छत्तीसगढ़ के तीन कांग्रेस नेता कोविड से अपनी जान गवां चुके हैं।

कोविड संक्रमण से तो खुद मंत्री और अधिकारी भी पीड़ित रहे। छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, उच्च शिक्षा, युवा कल्याण और खेल मंत्री उमेश पटेल और महिला एवं बाल विकास व समाज कल्याण मंत्री अनिला भेंडिया भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। 

छत्तीसगढ़ में कोरोना के 9921 नए मामले सामने आए हैं। केवल रायपुर में 2821 कोरोना के केसेज सामने आए हैं। अब तक पूरे प्रदेश में 53 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। वहीं दुर्ग ज़िले में नए कोरोना मरीजों की संख्या1838 पायी गयी है। जिनमें 9 मरीजों की मौत हो चुकी है। अब तक कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 14 हज़ार 245 है।

हालात बेकाबू होते देख सरकार ने रायपुर में दस दिनों का टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है। इस दौरान जिले में किराना दुकानों, शराब दुकानों औऱ निजी और सरकारी दफ्तरों को बंद रखने का फैसला लिया गया है। मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के बीच चलने वाली बस सेवा फिलहाल स्थगित कर दी गयी है। छत्तीसगढ़ में बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर मध्य प्रदेश परिवहन विभाग ने दोनों प्रदेशों के बीच संचालित होने वाली बसों को 15 अप्रैल तक बंद करने का फैसला लिया है।