बिसाहूलाल की माफी करणी सेना के लिए नाकाफी, भाजपा मुख्यालय में घुसकर मंत्री को घेरा

प्रदेश भर में हंगामे के बाद बीजेपी मंत्री बिसाहुलाल सिंह ने क्षमा याचना करते हुए जारी किया था बयान, करणी सेना बोली- माफी काफी नहीं, इस्तीफा देकर प्रायश्चित करें

Updated: Nov 27, 2021, 06:05 PM IST

बिसाहूलाल की माफी करणी सेना के लिए नाकाफी, भाजपा मुख्यालय में घुसकर मंत्री को घेरा

भोपाल। शिवराज सरकार के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह अपनी वाचाल प्रवृत्ति के कारण बुरे फंस गए हैं। विवादास्पद बयान पर सार्वजनिक क्षमा याचना के बाद भी बीजेपी मंत्री की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। शनिवार को सिंह को तब विकट परिस्थितियों का सामना करना पड़ा जब बीजेपी मुख्यालय के भीतर घुसकर करणी सैनिकों ने उन्हें घेर लिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक बिसाहूलाल सिंह शनिवार दोपहर राजधानी भोपाल स्थित बीजेपी मुख्यालय पहुंचे थे। इसकी भनक करणी सैनिकों को पहले से लग गई थी। ऐसे में बीजेपी कार्यलय में घुसकर करणी सैनिकों में जमकर हंगामा किया। करणी सैनिकों ने इस दौरान बिसाहूलाल सिंह के कार को चारों ओर से घेर लिया और नारेबाजी करने लगे। गनीमत रही कि सिंह के वाहन का शीशा नहीं खुला। 

बताया जा रहा है कि करीब आधे घंटे चली नोंक झोंक के बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं और पुलिस वालों ने किसी तरह मंत्री बिसाहूलाल की कार को आक्रोशित भीड़ से बाहर निकाला। बाद में करणी सैनिकों ने पुलिस को बिसाहूलाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए ज्ञापण दिया और कुछ करणी सैनिकों ने अपनी गिरफ्तारी भी दी।

यह भी पढ़ें: प्रदेश भर में विरोध के बाद बैकफुट पर आए BJP मंत्री, क्षमा याचना करते हुए जारी किया बयान

बीजेपी दफ्तर में हंगामा कर रहे करणी सैनिकों का कहना था कि सिर्फ माफी से बात नहीं बनेगी, इस कुकृत्य के लिए बिसाहूलाल को मंत्री पद से इस्तीफा देकर प्रायश्चित करना पड़ेगा, वरना करणी सेना प्रतिदिन वह जहां जाएंगे उनका विरोध करेगी और काले झंडे दिखाएगी। 

मामले में अब कांग्रेस की ओर से भी प्रतिक्रिया सामने आई है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा है कि मंत्री बिसाहूलाल सिंह के स्वर्ण महिलाओं को लेकर दिये आपत्तिजनक बयान के लिये मंत्री के माफ़ी माँगने से काम नही चलेगा। उन्होंने कहा है कि इसके लिए भाजपा नेतृत्व माफ़ी मांगे और बिसाहूलाल को मंत्री पद से तत्काल हटाए। 

बता दें कि अनूपपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिसाहूलाल ने कहा था कि, 'ठाकुर लोग अपने घर की महिलाओं को घर के बाहर नहीं निकलने देते। ठाकुरों की महिलाओं को घर से पकड़कर बाहर निकालो। तभी समाज में समानता आएगी।' भाजपा नेता के इस बयान ने करणी सेना को आंदोलित कर दिया है और वे प्रदेश भर में बिसाहूलाल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।