कृषि विवि में कुलपति नियुक्ति पर विवाद, नेता प्रतिपक्ष ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर की हस्तक्षेप की मांग

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के ससुर बने कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति, नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह बोले- यह नियम के विरुद्ध, कार्रवाई करें पीएम मोदी

Updated: Dec 01, 2022, 01:10 PM IST

कृषि विवि में कुलपति नियुक्ति पर विवाद, नेता प्रतिपक्ष ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर की हस्तक्षेप की मांग

भोपाल। मध्य प्रदेश के जबलपुर स्थित जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय में कुलपति नियुक्ति को लेकर विवाद गहराता जा रहा है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डॉ गोविंद सिंह ने इसे नियम विरुद्ध नियुक्ति करार देते हुए पीएम मोदी को पत्र लिखा है। नेता प्रतिपक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी से मामले में हस्ताक्षेप करने की मांग की है।

दरअसल, बीते दिनों डॉ प्रमोद कुमार मिश्रा को कृषि विवि का कुलपति नियुक्त किया गया था। मिश्रा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के ससुर हैं। विपक्ष का आरोप है कि बीजेपी के नेता सत्ता का दुरुपयोग कर अपने परिजनों को उपकृत कर रहे हैं। 

पीएम मोदी को संबोधित पत्र में नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह ने पत्र में लिखा है कि, 'प्रधानमंत्री जी, आप सार्वजनिक रूप से यह कहते है कि न खाऊंगा ना खाने दूंगा, परन्तु मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के सांसद एवं मप्र के अध्यक्ष वीडी शर्मा जी ने अपने ससुर प्रमोद कुमार मिश्रा जिनकी आयु लगभग 67 साल से अधिक होने के बाद भी नियम विरूद्ध 05 वर्ष के लिए जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय का कुलपति बनवाया है।'

यह भी पढ़ें: स्वतंत्रता सेनानी के पोते ने अपने रक्त से बनाई राहुल गांधी की तस्वीर, पेंटिंग लेकर भारत जोड़ो यात्रा में पहुंचा

डॉ सिंह के मुताबिक, 'नियमों में प्रावधान है कि 70 वर्ष से अधिक तक कोई कुलपति के पद पर नहीं रह सकता एवं 67 वर्ष से अधिक आयु का शिक्षाविद् आवेदन नहीं कर सकता। इसी विश्वविद्यालय में वीडी शर्मा जी की पत्नी सेवारत है, जिन्हें सुविधा की दृष्टि से भोपाल में संलग्न काराय है। जबकि कृषि विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की कमी है। इसी प्रकार से पं एसएन शुक्ल विश्वविद्यालय शहडोल में अपात्रों की नियुक्तियां की गई है।'

नेता प्रतिपक्ष ने आगे लिखा है कि, 'इसी प्रकार प्रदेश के अनेक विश्वविद्यालयों में विद्वान एवं पात्र आवेदकों की उपेक्षा कर भाजपा के मंत्रियों एवं नेताओं के नेताओं के निकटतम परिजनों की नियुक्तियां की जाकर उपकृत किया जा रहा है। क्या भाजपा का यही सुशासन है। अत: आपसे अनुरोध है कि इन गंभीर मामलों को संज्ञान में लेते हुए उचित कार्यवाही करने का कष्ट करें।'

बता दें कि वीडी शर्मा के ससुर की नियुक्ति का आदेश पिछले महीने 17 तारीख को आया था। डॉक्टर प्रमोद कुमार मिश्रा को कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से अगले पांच वर्ष के लिए कुलपति नियुक्त किया गया है। संयोग की बात यह कि वीडी शर्मा की पत्नी स्तुति पहले से ही इसी विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर हैं। लेकिन इन्हें भोपाल में समन्वयक के रूप में पदस्थ कर दिया गया है। अब स्तुति के पिता कुलपति हो गए हैं। इससे पहले भी जो कुलपति थे। वे तत्कालीन कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन के रिश्तेदार थे। इस प्रकार जेएनकेविवि में अपनों को उपकृत करने का सिलसिला काफी पहले से चला आ रहा है।