सिंधिया समर्थक कर रहे हैं गुटबाज़ी, नुकसान की भरपाई में दशकों लग जायेंगे, केपी यादव का नड्डा को पत्र

केपी यादव ने जेपी नड्डा को पत्र लिखकर सिंधिया समर्थक नेताओं की शिकायत की है, केपी यादव का आरोप है कि सिंधिया समर्थक नेता उनके और भाजपा नेताओं के खिलाफ गुटबाज़ी करने पर उतारू हो गये हैं, सिंधिया समर्थक लगातार उनकी उपेक्षा कर रहे हैं, केपी यादव ने नड्डा को चेताया है कि अगर जल्द ही सिंधिया समर्थकों को समझा नहीं गया तो पार्टी को बड़ा नुकसान होगा, और इस नुकसान की भरपाई दशकों में भी नहीं हो पायेगी

Updated: Jan 21, 2022, 05:24 PM IST

सिंधिया समर्थक कर रहे हैं गुटबाज़ी, नुकसान की भरपाई में दशकों लग जायेंगे, केपी यादव का नड्डा को पत्र

भोपाल। ज्योतिरादित्य सिंधिया को हरा कर संसद पहुँचे केपी यादव द्वारा जेपी नड्डा को लिखे पत्र ने मध्य प्रदेश बीजेपी में भूचाल ला दिया है। केपी यादव ने पहली बार सीधे तौर पर बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व से सिंधिया समर्थकों की शिकायत कर बीजेपी मेंं जारी गुटबाज़ी को जग जाहिर कर दिया है। केपी यादव ने सिंधिया समर्थकों पर गुटबाज़ी करने और केपी यादव सहित भाजपा नेताओं की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है। केपी यादव ने जेपी नड्डा को आगाह करते हुए कहा है कि अगर जल्द ही हालात पर काबू नहीं पाया गया तो पार्टी को दीर्घकालिक नुकसान भुगतना पड़ सकता है। जिसकी भरपाई करने में दशकों लग जायेंगे।  

केपी यादव ने सिंधिया और उनके समर्थकों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए जेपी नड्डा से शिकायतों का अंबार लगा दिया है। भाजपा सांसद ने कहा है कि सिंधिया समर्थक नेता पार्टी में गुटबाज़ी को बढ़ावा दे रहे हैं। जेपी नड्डा से केपी यादव ने कहा है कि सिंधिया समर्थक नेता लगातार उनका बॉयकॉट कर रहे हैं। ऐसी मीटिंग जिनकी अध्यक्षता खुद बीजेपी सांसद को करनी होती है, सिंधिया समर्थक नेता उन मीटिंग से भी नदारद रहते हैं।

केपी यादव ने जेपी नड्डा को बताया है कि पोस्टर, बैनरों में भी सिंधिया समर्थक उन्हें और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं व कार्यकर्ताओं को सम्मान नहीं देते। गुना सांसद ने कहा है कि सिंधिया समर्थ नेता न तो प्रोटोकॉल का पालन कर रहे हैं और न हीं पार्टी के सिद्धांतों का पालन करने में किसी तरह की दिलचस्पी वे दिखा रहे हैं। केपी यादव ने जेपी नड्डा को बताया है कि सिंधिया समर्थकों के इस बर्ताव के कारण पूरे ग्वालियर चंबल संभाग के कार्यकर्ता हताश व निराश हैं। गुना सांसद ने कहा कि इस रवैये के कारण पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच ज़रा भी अच्छा संदेश नहीं जा रहा है।

केपी यादव ने राष्ट्रीय अध्यक्ष से कहा है कि अगर समय रहते मौजूदा हालात पर काबू नहीं पाया गया तो इससे पार्टी को बड़ा नुकसान हो सकता है। केपी यादव ने आगाह करते हुए कहा कि अगर भविष्य में अच्छे परिणाम चाहिये तो स्थिति में सुधार करना ही होगा। अन्यथा मौजूदा हालात पार्टी में व्यक्ति निष्ठा को बढ़ावा देंगे और पार्टी को ऐसा नुकसान होगा जिसकी भरपाई करने में दशकों लग जायेंगे।

यह भी पढ़ें ः उमा भारती की चेतावनी को गोपाल भार्गव ने बताया चुटकुलेबाज़ी, बोले मैं अहमियत नहीं देता

केपी यादव 2019 में बीजेपी के टिकट पर गुना लोकसभा सीट से चुनाव लड़े थे। इसी सीट पर तब कांग्रेस पार्टी का हिस्सा रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया भी चुनाव लड़े थे। अपनी जीत को लेकर आश्वस्त सिंधिया को चुनाव परिणाम ने बड़ा झटका दिया। एक समय सिंधिया के वफादार रहे केपी यादव ने उनको गुना से हरा दिया। हालांकि जल्द ही सिंधिया ने भी कांग्रेस पार्टी को दगा दिया और राज्य में चोर दरवाज़े से बीजेपी की सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाई। 

यह भी पढ़ें ः UP के युवाओं के लिए कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र, स्वास्थ्य, शिक्षा, भागीदारी और रोज़गार पर ज़ोर

सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद अब ज्योतिरादित्य और केपी यादव एक ही कुनबे का हिस्सा थे। लेकिन सिंधिया का चुनाव में हारने का ज़ख्म नहीं भरा। केपी यादव और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच तल्खी बरकरार रही। समय समय पर विभिन्न मुद्दों पर सिंधिया और केपी यादव के बीच मतभेद उजागर होते रहे। सिंधिया समर्थकों से तंग आकर अब खुद केपी यादव ने बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व से संपर्क साधा है।