राम राजा मंदिर के सामने शराब दुकान मेरी भक्ति को चुनौती देती है: उमा भारती

अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस को याद करते हुए उमा भारती ने कहा कि ओरछा में शराब दुकान को लेकर भी ऐसा कुछ हो सकता है, जिसे पूरा प्रदेश देखेगा।

Updated: Oct 28, 2022, 10:25 AM IST

राम राजा मंदिर के सामने शराब दुकान मेरी भक्ति को चुनौती देती है: उमा भारती

ओरछा। मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग को लेकर पूर्व सीएम उमा भारती शिवराज सरकार की मुश्किलें बढ़ाती नजर आ रही हैं। इस बार उन्होंने उग्र चेतावनी दी है। बाबरी विध्वंस का जिक्र करते हुए पूर्व सीएम ने कहा है कि शराब दुकान को लेकर कुछ ऐसा ही हो सकता है, जिसे पूरा प्रदेश देखेगा।

भाईदूज के मौके पर उमा भारती धार्मिक नगरी ओरछा पहुंचीं थीं। यहां वह राम राजा मंदिर के सामने शराब की दुकान देखकर भड़क गईं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि मेरी भक्ति को चुनौती देती है। उमा ने गुरुवार को एक ट्वीट थ्रेड में लिखा, 'मैं आज सुबह ओरछा में थी, रामराजा सरकार के दर्शन करके मन प्रसन्नता से भर जाता है लेकिन ओरछा के मंदिर आते जाते ठीक ओरछा के मुहाने पर देशी विदेशी शराब की बड़ी भारी दुकान मेरी रामभक्ति को चुनौती देती है।'

उन्होंने आगे लिखा कि, 'जनता एवं हमारे सभी संगठनों के घोर विरोध के बावजूद इसका लाइसेंस मिला, फिर मेरे गोबर फेंकने के बाद इस दुकान को शासन ने बंद कर दिया और यह कोर्ट से स्टे ले कर आ गए। आज मुझे अयोध्या बहुत याद आई, लोकसभा की 2 सीटों से लेकर अयोध्या ने हमें दो बार केंद्र में अपने बहुमत से सरकार बनाने की हैसियत प्रदान की। जब ढांचा गिरा वह गैरकानूनी कृत्य माना गया, हम सब अपराधी माने गए और वहीं अंत में हमारे अपराध पर आज भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है।'

पूर्व सीएम ने आगे लिखा कि, 'ओरछा की यह देशी विदेशी शराब की दुकान मुझे प्रेरणा देती है कि यहां जो घटेगा वह पूरे मध्यप्रदेश के लिए उदाहरण होगा, देखते हैं क्या होता है।' उमा की धमकी पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष नरेन्द्र सलूजा ने उमा भारती के ट्वीट पर लिखा, 'उमा जी, शराबबंदी पर रोज बदलते आपके बयान, लगातार यू टर्न के बाद अब किसी को भी आपकी घोषणा पर कोई भरोसा नहीं होता है। 14 जून को आपने ओरछा की इसी दुकान पर गोबर फेंका था। रामराजा के शहर में एक शराब दुकान आपकी रामभक्ति को चुनौती दे रही है, वो भी आपकी ही सरकार में?'

बता दें कि उमा भारती पिछले एक साल से शराबबंदी और नशामुक्ति को लेकर अभियान का आह्वान कर रही हैं। वह शराब दुकानों पर गोबर से लेकर पत्थर तक फेंक चुकी हैं। पिछले हफ्ते ही उन्होंने अपनी जान को खतरा बताया था। उमा भारती ने कहा था कि शराब माफिया मेरी हत्या करवा सकते हैं।