भगवान राम भाजपा के कार्यकर्ता नहीं, अगर पार्टी ने भ्रम पाल लिया तो विनाशकारी होगा: उमा भारती

उमा भारती ने कहा कि अगर हम BJP वालों ने ये भ्रम पाल लिया है कि जब हमने आंखें खोली, तब सूरज-चांद निकल आए, तो फिर ये हमारे लिए विनाशकारी साबित होगा।

Updated: Dec 30, 2022, 03:04 PM IST

भगवान राम भाजपा के कार्यकर्ता नहीं, अगर पार्टी ने भ्रम पाल लिया तो विनाशकारी होगा: उमा भारती

छिंदवाड़ा। बीजेपी नेत्री व मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा है कि भगवान राम, हनुमान अथवा हिंदू धर्म पर बीजेपी का कॉपीराइट नहीं है। उन्होंने पार्टी नेताओं को चेताते हुए कहा है कि यदि उन्होंने भ्रम पाल रखा है तो यह विनाशकारी साबित होगा। भगवान राम का भक्त कोई भी हो सकता है।

दरअसल, उमा भारती गुरुवार को छिंदवाड़ा में थीं। यहां पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा सिमरिया में बनाए गए हनुमान मंदिर को लेकर एक सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने अपनी ही पार्टी को कठघरे में खड़ा किया। उमा भारती ने कहा कि हिंदू धर्म, भगवान राम और हनुमान भक्ति पर बीजेपी का कॉपीराइट नहीं है। उनका भक्त कोई भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें: इंदौर-भोपाल में जियो की 5G सर्विस शुरू, यूजर्स को मिलेगी 1GBPS की स्पीड

उमा भारती ने आगे कहा कि भगवान राम और हनुमान BJP के कार्यकर्ता नहीं हैं। जब BJP का अस्तित्व नहीं था, जब मुगल शासन था, अंग्रेजों का शासन था, तब भी भगवान राम और हनुमान थे। अगर हम BJP वालों ने ये भ्रम पाल लिया है कि नहीं हमने आंखें खोली, तब सूरज-चांद निकल आए, तो फिर ये हमारे लिए विनाशकारी साबित होगा।

पूर्व मुख्यमंत्री ने छिंदवाड़ा के सर्किट हाउस में मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि, 'जहां लोकतंत्र है, वहां कोई व्यक्ति, कोई जाति पॉलिटिकल सिस्टम का बंधक नहीं हो सकता। हम ये भ्रम न पालें कि सारा हिंदू समाज हमारा वोटर होगा। चाहे हमने राम मंदिर का निर्माण किया हो। हिमाचल में हम नहीं जीत पाए। क्या वे अहिंदू थे जिन्होंने हमें वोट नहीं दिया? पार्टी का कार्यकर्ता और नेता मर्यादा में बंधा है, मतदाता स्वतंत्र है।'

यह भी पढ़ें: मेरी फोटो दिखाकर वोट मांगने आएंगे, आप झांसे में मत आना, लोधी समाज के समर्थकों से बोलीं उमा भारती

 इससे पहले उमा भारती रविवार को लोधी समाज के एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा था कि मेरे फोटो दिखाकर बीजेपी के लोग आपसे वोट मांगते हैं। इस बार अगर मैं खुद भी कहूं कि भाजपा को वोट दो तो आप मत देना। आपको जो उम्मीदवार ठीक लगे उसे वोट देना। आप वोट देने के लिए स्वतंत्र हैं।