सड़क नहीं तो पत्नी को कैसे ले जाऊं अस्पताल, कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेने वाले फौजी की बेबसी

घर में दर्द से तड़प रही प्रसूता, हॉस्पिटल नहीं ले जा पा रहा है फौजी पति, नवजात बच्चे की किलकारियां बताएंगी राज्य के बदहाल सड़कों का हाल, देखें फौजी बेटे ने की शिवराज सरकार से क्या अपील

Updated: Jan 10, 2022, 05:00 PM IST

सड़क नहीं तो पत्नी को कैसे ले जाऊं अस्पताल, कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेने वाले फौजी की बेबसी

छत्तरपुर। भारतीय फौजियों के चेहरे पर हमेशा अदम्य शौर्य, साहस और जज्बा ही देखा जाता है। देश ने कठिन से कठिन परिस्थितियों में अपने फौज को चट्टान की तरह खड़ा देखा है। लेकिन सोशल मीडिया पर मध्य प्रदेश के एक फौजी बेटे की बेबसी की तस्वीरें सामने आई है। उन्होंने रुंधे हुए गले से सरकार से महज चार किलोमीटर सड़क बनाने की गुहार लगाई है।

मध्य प्रदेश छतरपुर जिले के लवकुश नगर ब्लॉक के सिद्धपुर गांव निवासी भगवान दास अनुरागी भारतीय सेना में हैं। उनकी पोस्टिंग कश्मीर में है, जहां हर दिन आतंकियों के नापाक मंसूबों को नाकाम करने में अपनी जान की बाजी लगाते वक़्त भी उनके चेहरे पर शिकन नहीं होती होगी। देश के लिए 24 घंटे अपनी जान हथेली पर रखने वाला मध्य प्रदेश का यह बेटा अपनी पत्नी और होने वाले बच्चे के जीवन को लेकर आशंकित है।

यह भी पढ़ें: बारिश और ओलों ने चूर किया हज़ारों किसानों का सपना, करुण रुदन से भीगा मन और वातावरण

दास की पत्नी प्रेग्नेंट हैं और जल्द ही उनका बच्चा होने वाला है। डिलीवरी का समय निकट आने पर वे छुट्टी लेकर घर आए हुए हैं, ताकि पत्नी को समय पर अस्पताल ले जा सकें। लेकिन बेमौसम बारिश ने ऐसी मुश्किल खड़ी कर दी है फौजी होते हुए भी दास असहाय हैं। दरअसल, उनके गांव से मुख्य सड़क की दूरी चार किलोमीटर है और वहां तक जाने के लिए पक्की सड़क नहीं है। 

उधर घर में पत्नी को लेबर पेन शुरू हो गया है। दर्द से तड़पती पत्नी को असहाय फौजी पति कोई मदद नहीं कर सकता। बारिश के कारण गांव में न जननी एक्सप्रेस आ सकती है, न अन्य वाहन आ जा सकते हैं। गांव वालों ने बेबस फौजी का एक वीडियो भी बनाया है। इसमें वे रुंधे हुए गले से कहते हैं कि पत्नी को कैसे ले जाऊं अस्पताल, क्या इस सड़क से गाड़ी पार हो सकती है। वे सरकार से गुहार लगाते हैं कि चार किलोमीटर की यह सड़क बनाएं ताकि भविष्य में उनकी तरह गांव के अन्य लोगों को तकलीफ नहीं हो।

यह भी पढ़ें: गुना में किसानों का हल्लाबोल, ओला प्रभावित फसलों का सर्वे नहीं होने से नाराज होकर सड़क पर किया चक्काजाम

वीडियो रविवार का बताया जा रहा है और इसमें फौजी कहता है कि आज बच्चा होने वाला है। खबर लिखे जाने तक यह जानकारी नहीं मिल पाई है कि फौजी के घर में किलकारियां गूंजी या नहीं, लेकिन नवजात के किलकारियों और प्रसूता की कराह में राज्य के बदहाल सड़कों की कहानी सुनाई देंगी। प्रदेश की यह स्थिति तब है जब सड़कों को लेकर सीएम शिवराज दावे करने में शीर्ष पर हैं। उनका एक दावा तो देशभर में मशहूर है, जिसमें उन्होंने अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन में जाकर बोलने से गुरेज नहीं किया था कि आपसे अच्छी सड़कें हमारे मध्य प्रदेश में हैं।