रायसेन में खूनी होली के बाद इंटरनेट सेवाएँ बंद, हिंसक झड़प में 1 की मौत 40 से अधिक घायल

रायसेन जिले के सिलबानी गांव में मुसलमानों पर शुक्रवार देर रात आसपास के आदिवासी गांव के लोगों ने हमला कर दिया, मामूली कहासुनी ने लिया हिंसक रूप, ग़ुस्साए लोगों ने जलाए घर

Updated: Mar 19, 2022, 06:18 PM IST

रायसेन में खूनी होली के बाद इंटरनेट सेवाएँ बंद, हिंसक झड़प में 1 की मौत 40 से अधिक घायल

रायसेन। मध्य प्रदेश के रायसेन में खूनी होली का दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प में 40 से ज्यादा लोग घायल हो गए। रिपोर्ट्स के मुताबिक अबतक एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है।

मामला रायसेन जिले के सिलबानी के चंदपुरा खमरिया ग्राम का है। बताया जा रहा है कि शुक्रवार को होली के मौके मुस्लिम और आदिवासी समुदाय के युवकों के बीच मामूली कहासुनी हुई थी। इसके बाद दो बार झड़प की स्थिति उत्पन्न हुई लेकिन लोगों ने तब उसे आपसी बातचीत से सुलझा लिया। 

यह भी पढ़ें: द कश्मीर फाइल्स पर यह क्‍या कह गए एमपी के आईएएस

लेकिन देर रात दोनों समुदाय के लोग एक दूसरे से भिड़ गए। इस दौरान दोनों पक्षों की ओर से ताबड़तोड़ फायरिंग हुई। बड़ी संख्या में आए आदिवासियों ने कई मुस्लिमों के घरों में आग लगा दिया और झड़प में धारदार हथियारों का भी इस्तेमाल हुआ। 

इस पूरे विवाद में एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि 40 से अधिक लोग घायल हैं। घायलों में कई लोगों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। गंभीर रूप से घायलों को रायसेन से भोपाल स्थित हमीदिया अस्पताल रेफर किया गया है। घटना के बाद इलाके में तनाव का महौल है। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक आईजी दीपिका सूरी, एसपी विकास शाहवाल, कलेक्टर अरविंद दुबे सहित भारी संख्या में पुलिस बल सिलबानी व आसपास के गांवों में तैनात हैं। कुछ लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया है। पुलिस अधिकारी फिलहाल इस घटना को लेकर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। 

गांव के आसपास के क्षेत्रों में तनाव की स्थिति को देखते हुए मीडियाकर्मियों एवं बाहरी व्यक्तियों को जाने नहीं दिया जा रहा है। स्थानीय लोगों के मुताबिक लगभग एक किलोमीटर पहले ही बाहरी लोगों को पुलिस रोक रही है। उससे आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। माहौल को शांत रखने के लिए इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह बंद कर दी गई हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शनिवार दोपहर हमीदिया अस्पताल में घायलों से जाकर मुलाकात की। इस दौरान सीएम चौहान ने मृतक़ के परिजनों को 5 लाख रुपए और घायलों को 2 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। सीएम चौहान ने कहा है कि गोली मारना कोई छोटी बात नहीं है, इस कृत्य में शामिल आरोपियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।