पिछले 24 घंटे में MP में कोरोना के 12 मामले दर्ज, 126 पहुंचा एक्टिव मामलों का आंकड़ा

कोरोना के बारह मामलों में से सबसे ज्यादा नौ मामले अकेले राजधानी भोपाल में दर्ज किए गए, जबलपुर में दो वहीं इंदौर में एक मामला दर्ज किया गया

Publish: Nov 29, 2021, 02:39 PM IST

पिछले 24 घंटे में MP में कोरोना के 12 मामले दर्ज, 126 पहुंचा एक्टिव मामलों का आंकड़ा

भोपाल। मध्य प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के बारह मामले दर्ज किए गए हैं। संक्रमण के बारह मामलों में सबसे अधिक नौ मामले भोपाल में दर्ज किए गए। जबकि जबलपुर में दो और इंदौर में एक मामला दर्ज किया गया है। 

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामलों का आंकड़ा सौ के पार है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में इस समय कुल 126 लोग कोरोना से संक्रमित हैं। एक्टिव मामलों में भी राजधानी भोपाल के हालात सबसे चिंताजनक है। राजधानी में इस समय कोरोना के 47 एक्टिव मामले हैं। जबकि इंदौर में कोरोना संक्रमण के कुल 42 मामले हैं। 

कोरोना की चपेट में प्रदेश के छोटे शहर भी हैं। रायसेन, शहडोल, बड़वानी, श्योपुर, होशंगाबाद और बैतूल में भी कोरोना अपने पैर पसारने की तैयारी कर रहा है। इन जिलों में भी हाल ही में कोरोना संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं। 

बीते दस दिनों में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के कुल 151 मामले सामने आए हैं। इनमें 50 से अधिक मामले सिर्फ बीते तीन दिनों में सामने आए हैं। तीन दिनों में प्रदेश में कोरोना के 53 मामले दर्ज किए गए हैं। रविवार को प्रदेश में बारह मामले सामने आने के साथ साथ शनिवार को 18 वहीं शुक्रवार को कोरोना के 23 मामले दर्ज किए गए। 

प्रदेश में कोरोना का संकट लगातार बढ़ते जा रहा है। रविवार को ही सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अस्पतालों में पर्याप्त व्यवस्था रखने के निर्देश दिए हैं। सीएम के निर्देश के बाद ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है कि जल्द ही प्रदेश में कोरोना पाबंदियों को अमल में लाया जा सकता है। वहीं कॉलेजों को लेकर भी नए सिरे से दिशानिर्देश जारी किए जाने की संभावना है। 

दूसरी तरफ अफ्रीकी वेरिएंट Omicron को लेकर भी मध्य प्रदेश में चिंता बढ़ गई है। अफ्रीकी मुल्क बोत्सवाना से भारत आई एक महिला यात्री लापता चल रही है। बीते 18 नवंबर को वह दिल्ली पहुंची थी, जिसके बाद एयर इंडिया की फ्लाइट से वह जबलपुर आई। लेकिन अब उसका कोई अता पता नहीं है। मध्य प्रदेश का स्वास्थ्य अमला अफ्रीकी महिला को ढूंढने में जुटा हुआ है।