MP: गृह सचिव डॉ मसूद अख्तर का निधन, सीएम शिवराज ने जताया दुख

वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और मध्यप्रदेश के गृह सचिव डॉ. मसूद अख्तर को आज सुबह आठ बजे हार्ट अटैक आया जिससे वह बच नहीं सके, तीन दिन पहले ही कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी

Updated: Jan 02, 2021, 12:24 AM IST

MP: गृह सचिव डॉ मसूद अख्तर का निधन, सीएम शिवराज ने जताया दुख
Photo Courtesy : Twitter

भोपाल। नए साल पर मध्यप्रदेश के गृह विभाग के सचिव आईएएस डॉ मसूद अख्तर के निधन की खबर मिली है। बताया जा रहा है कि डॉ अख्तर को आज सुबह आठ बजे हार्ट अटैक आया था जिससे वह बच नहीं सके और उनकी मौत हो गई। अख्तर के निधन से राज्य के प्रशासनिक खेमें में शोक की लहर है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई मंत्रियों व विपक्षी नेताओं ने उनके निधन को दुखद बताया है।

सीएम शिवराज ने ट्वीट किया, 'वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और मध्यप्रदेश के गृह सचिव डॉ. मसूद अख्तर के निधन का बेहद दुःखद समाचार मिला है। मेरी संवेदनाएँ उनके परिवार के साथ हैं। ईश्वर से उनकी आत्मा को शांति देने और शोकाकुल परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हूँ।'

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट किया, 'मध्यप्रदेश कैडर के वरिष्ठ आईएएस एवं प्रदेश के गृह सचिव डॉ. मसूद अख़्तर जी के असमय निधन की दुखद ख़बर है। कांग्रेस परिवार शोक-संवेदना व्यक्त करते हुये परिजनों को यह असीम दुख सहने की शक्ति देने की प्रार्थना करता है। “भावपूर्ण श्रद्धांजलि”

 

 

बताया जा रहा है कि डॉ अख्तर पिछले एक महीने से राजधानी भोपाल स्थित नेशनल अस्पताल में भर्ती थे। भर्ती होने के कुछ दिन बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी और डॉक्टरों ने बताया था की उनके लंग्स में इंफेक्शन है। तीन दिन पहले उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई हालांकि वह इसके असर से बच नहीं सके। आज सुबह जब उन्हें हार्ट अटैक आया तो उन्हें वेंटिलेटर पर ले जाया जाने लगा लेकिन इसके पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

 

साथी आईएएस ने यूं किया याद

मध्य प्रदेश के राज्य सूचना कमिश्नर राहुल सिंह ने सोशल मीडिया ट्वीटर के माध्यम से अपने साथी के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, 'मप्र गृह विभाग के सचिव डॉ मसूद अख्तर के निधन का दुखद समाचार मिला। हाल ही में कोरोना के चलते उनकी तबीयत बिगड़ी तो मैंने संपर्क करने की कोशिश की पर बात नहीं हो पाई।सूचना आयोग में सचिव रहे मसूद जी को क़रीब से जानने का मौका मिला। ईश्वर उनके परिजनों को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें।'