नीमच हत्याकांड: प्रशासन ने हत्या के आरोपियों के घर पर चलाया बुलडोजर, 3 आरोपी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर

कन्हैया भील हत्याकांड में नीमच प्रशासन ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है, 5 लोगों की हुई है गिरफ्तारी

Updated: Aug 29, 2021, 06:21 PM IST

नीमच हत्याकांड: प्रशासन ने हत्या के आरोपियों के घर पर चलाया बुलडोजर, 3 आरोपी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर

नीमच। नीमच में भील समाज के व्यक्ति की बेरहमी से पीटकर हुई हत्या के मामले में अब शिवराज सरकार एक्शन मोड में आ गई है। मामले में चौतरफा घिर जाने के बाद शिवराज सरकार ने कन्हैया भील की हत्या के आरोपियों के घर पर बुलडोजर चला दिया है। इसमें हत्या के मुख्य आरोपी और सरपंच पति महेंद्र गुर्जर का घर भी शामिल है। 

नीमच प्रशासन ने मुख्य आरोपी और सरपंच पति महेंद्र गुर्जर के जेतलिया गांव स्थित अवैध मकान पर बुलडोजर चलाया गया है। इसकी जानकारी खुद नीमच पुलिस अधीक्षक ने ट्वीट करके दी है। नीमच पुलिस अधीक्षक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कार्रवाई की जानकारी देते हुए कहा है कि सिंगोली में कान्हा भील की हत्या के प्रकरण में मुख्य आरोपी महेंद्र गुर्जर के अवैध मकान को जिला पुलिस एवं प्रशासन द्वारा ध्वस्त किया गया। विकृत मानसिकता वाले सभी आरोपियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। 

महेंद्र गुर्जर के अलावा हत्या के अन्य आरोपियों अमर चंद, सत्यनारायण और गोपाल गुर्जर के अवैध मकान को भी तोड़ा गया है। हालांकि सोशल मीडिया पर कार्रवाई के मामले में प्रशासन की लेट लतीफी की भी आलोचना हो रही है। वहीं कन्हैया भील हत्या मामले में पुलिस ने कुल आठ लोगों को आरोपी बनाया है। लेकिन अब तक इस मामले में पांच आरोपियों को ही पुलिस गिरफ्तार कर पाई है। जबकि तीन आरोपी भी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहे हैं। 

यह भी पढ़ें : चोरी के शक में भील समुदाय के व्यक्ति को ट्रक से बांधकर घसीटा, अस्पताल में हुई व्यक्ति की मौत

नीमच के सिंगोली थाना क्षेत्र में भील समुदाय से ताल्लुक रखने वाले कन्हैया की चोरी के शक में कुछ लोगों ने हत्या कर दी थी। कन्हैया को चोरी के आरोप में पिकअप वाहन से बांधकर घसीटा गया। कन्हैया को बेरहमी से पीटा गया। इस दौरान कन्हैया लगातार रहम की भीख मांगता रहा, लेकिन किसी को भी कन्हैया पर रहम नहीं आई। आरोपियों ने खुद पुलिस को फोन कर यह सूचना दी कि उन्होंने एक चोर को पकड़ा है। लेकिन जबतक कि  पुलिस कन्हैया को अस्पताल ले गई, उसकी मौत हो गई।