मदरसों पर गरमाई MP की सियासत, पीसी शर्मा बोले- बाढ़ से नुकसान का सर्वे करें, पीड़ितों को मुआवजा दें

बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा था कि सरकार अवैध रूप से संचालित मदरसों का सर्वे करेगी और उन्हें जमींदोज किया जाएगा, इसपर कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने करारा जवाब दिया है

Updated: Sep 03, 2022, 06:48 PM IST

मदरसों पर गरमाई MP की सियासत, पीसी शर्मा बोले- बाढ़ से नुकसान का सर्वे करें, पीड़ितों को मुआवजा दें

भोपाल। मदरसों को लेकर एक बार फिर मध्य प्रदेश की सियासत गरमाई हुई है। बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि अवैध रूप से संचालित मदरसों का सर्वे किया जाएगा। इसपर कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने भाजपा को नसीहत देते हुए कहा कि पहले बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे करा लें, धर्म के नाम पर राजनीति बाद में करें।

दरअसल, शनिवार को बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने एक बयान में कहा कि, 'प्रदेश में संचालित मदरसों से हमें कोई एलर्जी नहीं है। सरकार पूरी तरह शिक्षा को बढ़ावा देना चाहती है। लेकिन जिन मदरसों में देश विरोधी गतिविधियां संचालित होती है। या फिर ऐसे मदरसे हैं जहां ISI और तालिबानी गतिविधियां देखने को मिलती है। उन अवैध मदरसों को तोड़ा जाएगा। कई मदरसों में भारत भक्ति की जगह भारत विरोधी मानसिकता है। ऐसे मदरसे जल्द ही सर्वे में आएंगे और सीधे तोड़े भी जाएंगे।'

यह भी पढ़ें: MP पुलिस का थर्ड डिग्री टॉर्चर, चोरी के शक में आदिवासी युवक को पीट-पीटकर मार डाला

विधायक रामेश्वर शर्मा के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस एमएलए पीसी शर्मा ने कहा कि प्रदेश में बाढ़ से हुए नुक़सान का सर्वे हुआ नहीं हैं। सरकार ने अभी तक किसी भी पीड़ित को मुआवज़ा नहीं दिया है। पहले ये नुकसान का सर्वे कर लें। ये केवल धर्म और जाति पर बात करके सुर्ख़ीयों में आना चाहते हैं। भाजपा युवा मोर्चा का एक नेता पाकिस्तानी एजेंसी के साथ काम करते पकड़ा गया। पहले ये अपने लोगों को चिन्हित करें फिर मदरसों को चिन्हित करें।'

पीसी शर्मा ने आगे कहा कि भाजपा के मंत्रियों की तो कोई सुन नहीं रहा है। अधिकारी मंत्रियों के फ़ोन तक नहीं उठा रहे हैं। सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे है। पार्षद आपस में लड़ झगड़ रहे हैं। भाजपा के लोग इन सब चीज़ों से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह का बयान देते हैं।