कश्मीर घाटी में भारत जोड़ो यात्रा को लेकर जबरदस्त उत्साह, अब्दुल्ला और मुफ्ती भी करेंगे राहुल के साथ कदमताल

जम्मू कश्मीर में तकरीबन आठ दिन रहेगी भारत जोड़ो यात्रा, भव्य स्वागत की तैयारियां, महबूबा मुफ्ती बोलीं- राहुल के अदम्य साहस को सलाम करती हूं

Updated: Dec 28, 2022, 04:19 PM IST

कश्मीर घाटी में भारत जोड़ो यात्रा को लेकर जबरदस्त उत्साह, अब्दुल्ला और मुफ्ती भी करेंगे राहुल के साथ कदमताल

जम्मू कश्मीर। भारत जोड़ो यात्रा को लेकर जम्मू कश्मीर के लोगों में जबरदस्त उत्साह है। यात्रा के भव्य स्वागत के लिए कश्मीर में अभी से तैयारियां शुरू हो चुकी है। खास बात है कि नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती भी इस यात्रा में शामिल होंगी। दोनों दलों के हजारों की संख्या में कार्यकर्ता भी राहुल के साथ इस यात्रा में शामिल होंगे।

जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि मैं राहुल के साहस को सलाम करती हूं। महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, 'मुझे भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी जी के साथ कश्मीर में जुड़ने का आज न्योता दिया गया। मैं राहुल गांधी के अदम्य साहस को सलाम करती हूं। मेरा मानना है कि उस व्यक्ति के साथ खड़े होना मेरा कर्तव्य है, जिसमें फासीवादी ताकतों को चुनौती देने की हिम्मत है।'

इससे पहले महबूबा मुफ्ती ने पीडीपी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा था कि हम भारत को एकजुट करने और इस देश में धर्मनिरपेक्षता और भाईचारे को मजबूत और विकसित करने के लिए भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने के लिए राहुल गांधी को सलाम करते हैं। इसके साथ ही उन्होंने देश की धर्मनिरपेक्ष नींव को कमजोर करने और तोड़ने के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की आलोचना भी की थी।

वहीं कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा है कि यात्रा में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती शामिल होंगे। इस बात की घोषणा वेणुगोपाल ने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से मुलाकात के बाद की। यानी तीनों पूर्व सीएम राहुल के साथ कदमताल करेंगे। 

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक, कांग्रेस ने गृहमंत्री अमित शाह को लिखी चिट्ठी

भारत जोड़ो यात्रा का भव्य स्वरूप देखते हुए  गुलाम नबी आजाद की पार्टी के नेताओं ने भी इस्तीफा देना शुरू कर दिया है। हाल ही में पूर्व डिप्टी सीएम ताराचंद समेत आजाद की पार्टी के 126 पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया था। बताया जा रहा है कि वे सभी नेता भी भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगे। कांग्रेस से बगावत कर नई पार्टी बनाने वाले आजाद अब अलग-थलग पड़ गए हैं।

जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (JKPCC) के पूर्व अध्यक्ष जी.ए. मीर को केंद्र शासित प्रदेश में 'भारत जोड़ो यात्रा' के लिए समन्वयक नियुक्त किया गया है। मीर ने बताया कि बड़ी संख्या में आम लोगों, राजनीतिक, सामाजिक व गैर सरकारी संगठनों के यात्रा में शामिल होने की उम्मीद है। राहुल गांधी जनवरी के तीसरे हफ्ते में जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने के बाद आठ दिन यहां बिताएंगे। इनमें से चार दिन वह जम्मू, जबकि चार दिन कश्मीर में गुजारेंगे।