हिंदू महासभा ने अब PM मोदी के लिए उगला जहर, कहा- जिसकी बात एक नहीं, उसका बाप एक नहीं

कृषि कानूनों की वापसी पर भड़का हिंदू महासभा, कार्यालय से हटाई पीएम मोदी की तस्वीर, राष्ट्रीय सचिव ने कहा- गद्दी पाने के लिए किया सिद्धान्तों से समझौता

Updated: Nov 20, 2021, 04:22 PM IST

हिंदू महासभा ने अब PM मोदी के लिए उगला जहर, कहा- जिसकी बात एक नहीं, उसका बाप एक नहीं
Photo Courtesy: HT

अलीगढ़। कृषि कानूनों पर मोदी सरकार द्वारा हठ त्यागने की चर्चा विश्वभर में हो रही है। हालांकि, भारत के कुछ दक्षिणपंथी संगठनों को ही यह फैसला खटकने लगा है। अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने इस निर्णय के बाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। हिंदू महासभा ने सभी मर्यादाओं को ताक पर रखते हुए कहा है कि जिसकी बात एक नहीं, उसका बाप एक नहीं।

हिंदू महासभा को लेकर कहा जाता है कि वह अमूमन बीजेपी और आरएसएस का समर्थन करती है। लेकिन इस बार हिंदू महासभा ने खुद प्रधानमंत्री मोदी के लिए घोर आपत्तिजनक बातें कर दी। हिंदू महासभा ने अपने अलीगढ़ स्थित कार्यालय से पीएम मोदी की तस्वीर को हटाकर वहां वीर सावरकर की फोटो लगा दी है।

यह भी पढ़ें: जिसमें ताकत हो मेरे घुटने तोड़े, घर में घुसकर रामधुन करूंगा, दिग्विजय सिंह ने BJP MLA को दी खुली चुनौती

हिंदू महासभा ने इसका कारण यह बताया है कि हम ऐसे नेताओं की तस्वीर कार्यालय में नहीं लगाएंगे जो अपनी बातों से पलट जाएं। आज पीएम मोदी ने कृषि कानूनों को वापस लिया है, कल को CAA, NRC व धारा 370 के फैसले को भी वापस ले सकते हैं। हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय ने कहा है की मोदी सरकार के इस फैसले से काफिरों के हौसले बुलंद हो जाएंगे। 

पूजा शकुन पांडेय ने कहा, 'जिसकी बात एक नहीं, उसका बाप एक नहीं। मैं मोदी जी की घोर प्रशंसक थी और उनके लिए कायल हो चुकी थी। ऐसा क्या हुआ जो इन्होंने कृषि कानूनों को वापस ले लिया। क्या केवल गद्दी की चाहत में सिद्धांतो से समझौता कर लिया? मुझे मोदी जी से ये उम्मीद नहीं थी। मैं ये मानती हूं कि राजा वो जो सिद्धांतो से समझौता न करे और उनके व्यक्तित्व से भी मुझे ऐसी ही उम्मीद थी। लेकिन आज उन्होंने सिद्धांतो से समझौता कर लिया तो संदेश बहुत गलत जा रहा है।'