बिहार चुनाव 2020: बुरी तरह हारीं पुष्पम प्रिया चौधरी, EVM हैक होने का लगाया आरोप

पुष्पम प्रिया चौधरी को NOTA से भी कम वोट मिले, उनकी पार्टी प्लूरल्स के सभी उम्मीदवारों की जमानत हुई जब्त, पुष्पम ने कहा, EVM हैकिंग के जरिये हमारे वोट NDA में ट्रांसफर हुए

Updated: Nov 10, 2020, 08:23 PM IST

बिहार चुनाव 2020: बुरी तरह हारीं पुष्पम प्रिया चौधरी, EVM हैक होने का लगाया आरोप
Photo Courtesy : Asianet

पटना। लंदन से लौटकर राजनीति में कदम रखने वाली सोशल मीडिया सेन्सेशन पुष्पम प्रिया चौधरी को बिहार विधानसभा चुनाव में करारी हार का मुंह देखना पड़ा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पुष्पम प्रिया की पार्टी प्लूरल्स के उम्मीदवारों को नोटा से भी ढाई गुना कम वोट मिले हैं। पुष्पम प्रिया ने इस हार के लिए ईवीएम में छेड़छाड़ को जिम्मदार ठहराया है। उनका दावा है कि उनकी पार्टी के वोट धांधली करके एनडीए उम्मीदवारों को ट्रांसफर कर दिए गए हैं।

फिल्मी तरीके से बिहार की राजनीति में एंट्री लेने वाली पुष्पम प्रिया के सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई है। चौंकाने वाली बात यह है कि खुद को बिहार की अगली मुख्यमंत्री बताने वाली पुष्पम प्रिया खुद पांच हजार वोट भी नहीं ला सकी। 

पुष्पम ने बिहार की दो विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ा था। मधुबनी जिले के बिस्फी विधानसभा क्षेत्र में प्लूरल्स पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष को मात्र 1,085 वोट ही मिले। हैरान करने वाली बात यह है कि पुष्पम प्रिया से दो गुने वोट नोटा को मिले हैं। पुष्पम प्रिया ने पटना के बांकीपुर विधानसभा क्षेत्र से भी चुनाव लड़ा था। वहां भी उन्हें 2,260 वोट लाने में सफल रहीं। यानी दोनों जगहों को मिलाकर भी वह मात्र 3,345 वोट ही ला पाईं।

और पढ़ें: बिहार चुनाव 2020 लेफ्ट पार्टियों ने दर्ज की बड़ी बढ़त, 18 सीटों पर वाम दलों के उम्मीदवार आगे

एक के बाद एक एनडीए पर लगाए कई आरोप

हार से आक्रोशित पुष्पम प्रिया चौधरी ने बीजेपी और एनडीए के खिलाफ आरोपों की झड़ी लगा दी है। पुष्पम ने कहा है प्लुरल्स के वोटों की चोरी की गई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि प्लूरल्स के वोट एनडीए को ट्रांसफर कर दिए गए।

 

 

पुष्पम ने यह भी दावा किया है कि जहां कार्यकर्ताओं ने मेरे सामने वोट डाले थे वहां भी भी हमें जीरो वोट मिले हैं। उन्होंने तंज कसते हुए कहा है कि चोरी किए ठीक है, लेकिन उन मशीनों को छोड़ देते जो हमारे बूथ पर थे।

 

बिहार को सिंगापुर बनाने का किया था वादा

लंदन स्कूल ऑफ इकॉनमिक्स से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की पढ़ाई करने वाली पुष्पम प्रिया ने बिहारवासियों से वादा किया था कि अगर वह सीएम बनीं तो बिहार को सिंगापुर जैसा बना देंगी। वह लगातार लंदन और सिंगापुर के होटल्स और लाउंज के फोटोज पोस्ट करती थीं और वादा करती थीं कि ऐसी व्यवस्था बिहार में भी होगी।  उन्होंने शराबबंदी को दकियानूसी सोच बताते हुए कहा था कि सीएम बनने के बाद वह बिहार में दोबारा शराब की बिक्री शुरू करवाएंगी। उन्होंने अपनी एक तस्वीर साझा करते हुए पटना के लोगों को कहा था कि मुझे वोट दीजिए मैं पटना में हैंगआउट प्लेस जैसी सुविधाएं उपलब्ध करवाउंगी और पटना को कॉस्मोपॉलिटन कैपिटल बनाउंगी।

और पढ़ें: बिहार में कांटे की टक्कर, एनडीए-महागठबंधन में मामूली फासला

अचानक इश्तेहार के जरिए किया था सीएम बनने का ऐलान

पुष्पम रातों-रात तब मशहूर हो गई जब उन्होंने मार्च में अचानक बिहार के सभी अखबारों में इश्तेहार छपवाया और खुद को बिहार चुनाव में सीएम पद का उम्मीदवार बता दिया। इसके बाद देखते ही देखते सोशल मीडिया साइट्स पर उनके लाखों फॉलोवर्स हो गए। मीडिया इंटरव्यू के जरिए बाद में लोग जान पाए कि आखिर वह हैं कौन। पुष्पम जेडीयू के पूर्व एमएलसी विनोद चौधरी की बेटी हैं। उनके दादा भी राजनीति में सक्रिय रहे हैं। ऐसे में कहा जा सकता है कि राजनीति उन्हें विरासत में मिली है।