गजेंद्र झा बीजेपी से निष्कासित, मांझी की ज़ुबान काटने पर की थी 11 लाख के इनाम की घोषणा

गजेंद्र झा ने जीतन राम मांझी को लेकर कहा था कि जो कोई भी मांझी की ज़ुबान काट कर लाएगा, उसे वह ग्यारह लाख रुपए का इनाम देंगे

Updated: Dec 22, 2021, 10:53 AM IST

गजेंद्र झा बीजेपी से निष्कासित, मांझी की ज़ुबान काटने पर की थी 11 लाख के इनाम की घोषणा

पटना। बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी को लेकर अमर्यादित बयान देने वाले भाजपा नेता के खिलाफ पार्टी ने बड़ी कार्रवाई की है। बीजेपी ने गजेंद्र झा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। इसके साथ ही पंद्रह दिनों के भीतर पार्टी ने गजेंद्र झा से उनके बयान पर स्पष्टीकरण भी मांगा है। 

गजेंद्र झा पर यह कार्रवाई जीतन राम मांझी के संबंध में अमर्यादित भाषा बोलने के कारण की गई है। बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य गजेंद्र झा ने मांझी को लेकर कहा था कि जो कोई भी व्यक्ति उनकी ज़ुबान काट कर लाएगा, उसे वे ग्यारह लाख रुपए इनाम के तौर पर देंगे। 

गजेंद्र झा के इस बयान के बाद जमकर बवाल मचा था। हालांकि बवाल मचने के बाद जब मीडिया ने दोबारा गजेंद्र झा से उनके अमर्यादित बयान पर बात की तब भी गजेंद्र झा के तेवर में कोई बदलाव नहीं आया। भाजपा नेता ने कहा कि वह अपने बयान पर पूर्ण रूप से कायम हैं। क्योंकि वे सबसे पहले एक ब्राह्मण हैं। 

उधर गजेंद्र झा के बयान पर मचे सियासी बवाल को देखते हुए बीजेपी ज़रूर बैकफुट पर आ गई। और उसने गजेंद्र झा को अपनी पार्टी से निष्कासित कर दिया। मधुबनी जिले के बीजेपी अध्यक्ष शंकर झा ने मीडिया से कहा कि जीतन राम मांझी को लेकर दिया गया गजेंद्र झा का बयान अमर्यादित है और पार्टी अनुशासन के खिलाफ है। 

दरअसल हाल ही में बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा था कि पंडित लोग निचली जातियों के घर सत्यनारायण की पूजा करवाने आते हैं, लेकिन वे उनके घर खाना नहीं खाते। सिर्फ दक्षिणा लेकर चले जाते हैं। इस दौरान जीतन राम मांझी के मुंह से अपशब्द भी निकल गए थे। जीतन राम मांझी के इस बयान पर जब बवाल मचा तब उन्होंने अपने बयान पर खेद जताते हुए कहा कि वे अपने समाज के लोगों को खरी खोटी सुना रहे थे। 

यह भी पढ़ें : मांझी की जीभ काटने पर भाजपा नेता ने किया इनाम का एलान, HAM बोली मां का दूध पिया है तो काटकर दिखाए

इसके बाद मधुबनी के भाजपा नेता गजेंद्र झा ने मीडिया में यह एलान कर दिया कि जीतन राम मांझी को हिंदुस्तान में भागने के लिए ज़मीन कम पड़ जाएगी। गजेंद्र झा ने कहा था कि कोई भी ब्राह्मण का बेटा जीतन राम मांझी की ज़ुबान काट कर लाएगा, उसे ग्यारह लाख का इनाम देने के साथ साथ उसके भरण पोषण की भी जिम्मेदारी उठाई जाएगी। 

भाजपा नेता के इस बयान के बाद मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने पलटवार करते हुए कहा था कि अगर किसी ने मां का दूध पिया है तो वह मांझी की ज़ुबान काटकर दिखाए। पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिज़वान ने बीजेपी को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर बीजेपी नेताओं की आपत्तिजनक बयानबाजी का सिलसिला नहीं थमा तो बीजेपी को परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहना होगा। जिसके बाद पार्टी ने गजेंद्र झा को निष्कासित करने का फैसला कर लिया।