बाबुल सुप्रियो ने थामा ममता बनर्जी का दामन, केंद्र ने घटायी सुरक्षा, जेड से वाई कैटगरी में आ गए सुप्रियो

पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद से ही पार्टी में बेक़द्री से दुखी थे बाबुल सुप्रियो, मोदी कैबिनेट से हटाए जाने के बाद बीजेपी भी छोड़ दिया था.. अब तमाम अटकलों को सही साबित करते हुए उन्होंने तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया है

Updated: Sep 18, 2021, 06:54 PM IST

बाबुल सुप्रियो ने थामा ममता बनर्जी का दामन, केंद्र ने घटायी सुरक्षा, जेड से वाई कैटगरी में आ गए सुप्रियो
Photo Courtesy: Twitter

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में बीजेपी को एक और बड़ा झटका लगा है। मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके बाबुल सुप्रियो ने तृणमूल कांग्रेस ज्वाइन कर लिया है। बाबुल सुप्रियो ने शनिवार को टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी और डेरेक ओ ब्रायन की मौजूदगी में टीएमसी की सदस्यता ग्रहण की। बाबुल सुप्रियों के तृणमूल ज्वाइन करते ही खबर आयी है कि केंद्र से उन्हें मिली जेड श्रेणी की सुरक्षा घटा दी गयी है। अब वे वाइ कैटेगरी सुरक्षा के ही हकदार रहेंगे। 6-7 कमांडो वाले सुप्रियो को अब दो हथियारबंद सिपाही ही मिलेंगे। 

सुप्रियो से पहले बीजेपी के चार निर्वाचित विधायक पार्टी छोड़ टीएमसी ज्वाइन कर चुके हैं। वहीं टीएमसी ने कहा है कि अभी कई और नेता बीजेपी छोड़ने वाले हैं। बाबुल सुप्रियो ने ऐसे समय में टीएमसी का दामन थामा है, जब पश्चिम बंगाल में भवानीपुर सीट पर निर्णायक विधानसभा उपचुनाव हो रहा है। यह चुनाव इसलिए निर्णायक है क्योंकि स्वयं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी यहां से उम्मीदवार हैं। भवानीपुर जीतने के बाद ही ये साफ हो पाएगा कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ही रहेंगी। बहरहाल, सुप्रियो के शामिल होने पर टीएमसी ने बयान जारी कर उनका स्वागत किया है।

बीजेपी के कई नेता संपर्क में: TMC

बाबुल सुप्रियो के तृणमूल में शामिल होने के बाद पार्टी ने कहा है कि अभी कई बीजेपी नेता हमारे संपर्क में हैं। टीएमसी नेता कुणाल घोष ने कहा, 'बीजेपी के कई नेता टीएमसी के संपर्क में हैं। वे सभी बीजेपी नेतृत्व से असंतुष्ट हैं। बाबुल सुप्रियो ने तो आज टीएमसी ज्वॉइन कर ही लिया, अन्य नेता भी आना चाहते हैं। इंतजार करिए और देखते जाइए क्या-क्या होता है।

बता दें कि इसी साल हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सांसद बाबुल सुप्रियो को मैदान में उतारा था। लेकिन वे चुनाव हार गए थे। चुनाव हारने के बाद उन्हें मोदी मंत्रिमंडल से भी हटा दिया गया। इसी बात को लेकर बाबुल सुप्रियो नाराज चल रहे थे। उन्होंने तुरंत बाद बीजेपी से इस्तीफे के भी ऐलान कर दिया था।