राजदीप सरदेसाई को इंडिया टुडे ने दो हफ्ते के लिए ऑफ एयर किया, अब इस्तीफा देने की ख़बर

26 जनवरी को राजदीप ने ट्वीट किया था कि किसान की मौत गोली लगने से हुई, बाद में पता चला कि मौत ट्रैक्टर पलटने से हुई थी तो राजदीप ने गलती सुधार ली, फिर भी मैनेजमेंट ने उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई कर दी

Updated: Jan 28, 2021, 08:22 PM IST

राजदीप सरदेसाई को  इंडिया टुडे ने दो हफ्ते के लिए ऑफ एयर किया, अब इस्तीफा देने की ख़बर
Photo Courtesy : EastMojo

नई दिल्ली। अंग्रेज़ी न्यूज़ चैनल इंडिया टुडे के वरिष्ठ पत्रकार और एंकर राजदीप सरदेसाई को गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में मचे हंगामे के बीच एक गलत सूचना ट्वीट करना भारी पड़ गया। खबर है कि इंडिया टुडे ग्रुप ने राजदीप के गलत ट्वीट को गंभीरता से लेते हुए उन्हें दो हफ्ते के लिए ऑफ एयर कर दिया है। यानी वे 14 दिनों तक टीवी पर नज़र नहीं आ पाएंगे। इतना ही नहीं खबर यह भी है कि उनका एक महीने का वेतन भी काट लिया गया है। इसी बीच ये ख़बर भी आ रही है कि राजदीप ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

बताया जा रहा है कि राजदीप के ट्विट्स राष्ट्रपति कोविंद व 26 जनवरी के दिन मारे गए किसान से संबंधित थे। साथ ही उन पर सोशल मीडिया के माध्यम से फर्जी खबर फैलाने का भी आरोप है। चैनल के इस कार्रवाई की पुष्टि खुद राजदीप ने भी न्यूज़ वेबसाइट न्यूज़ लॉन्ड्री के मैसेज के रिप्लाई में किया है।

यह भी पढ़ें: अर्नब गोस्वामी वाट्सअप चैट लीक को संसद में उठाने की तैयारी, कांग्रेस ने कहा देश से की ग़द्दारी

दरअसल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान एक तस्वीर सामने आई, जिसमें एक मृत किसान तिरंगे में लिपटा हुआ था और कुछ लोग शव को घेरे बैठे थे। इस दौरान कुछ लोगों ने दावा किया कि किसान की मौत पुलिस की गोली से हुई है। राजदीप ने इसी दावे को सच मानते हुए खबर ट्वीट कर दी। उनके ट्वीट करने के बाद यह खबर चैनल पर भी चल गई। लेकिन बाद में यह खबर गलत निकली।

दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी वीडियो जारी करके साफ किया कि किसान की मौत गोली लगने की वजह से नहीं, बल्कि ट्रैक्टर पलटने की वजह से हुई है। पुलिस का स्पष्टीकरण आने के बाद राजदीप ने भी अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया। इतना ही नहीं, उन्होंने पहले दी गई खबर का खंडन करते हुए पुलिस द्वारा जारी उस वीडियो को भी ट्वीट कर दिया, जिसमें ट्रैक्टर पलटता दिख रहा है। इसके बावजूद इंडिया टुडे के प्रबंधन ने राजदीप के खिलाफ कार्रवाई कर दी।

यह भी पढ़ें: कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ विपक्ष एकजुट, कांग्रेस समेत 16 दल करेंगे राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार

राजदीप के खिलाफ कार्रवाई की खबर को लेकर सोशल मीडिया पर दो तरह की प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं। एक तरफ वो लोग हैं जो राजदीप को हमेशा से नापसंद करते हैं, उन्हें 'सिकुलर', 'लिबटार्ड' मोदी विरोधी और न जाने क्या-क्या कहते रहते हैं। ऐसे लोग इस कार्रवाई से खुश हैं। इतना ही नहीं, कुछ लोग तो उनके खिलाफ पुलिस कार्रवाई की मांग भी कर रहे हैं। दूसरी तरफ वे लोग हैं, जो राजदीप के खिलाफ की गई कार्रवाई में सरकार के दबाव का हाथ मान रहे हैं। ऐसे लोग यह सवाल भी पूछ रहे हैं कि जब टीवी टुडे ग्रुप के ही लोकप्रिय चैनल आजतक की एक महिला एंकर ने दो हज़ार रुपये के नए नोट में चिप लगे होने का दावा किया था तो उनके खिलाफ क्या कार्रवाई की गई थी? जबकि उनका वो वीडियो इतना वायरल हुआ कि लोग अब तक उसका मज़ाक बनाते हैं। लेकिन चैनल ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। 

बहरहाल, इन तमाम चर्चाओं के बीच यह सवाल भी पूछे जाने लगे कि क्या राजदीप इस कार्रवाई के बावजूद चैनल में बने रहेंगे या इस्तीफा देंगे? हालांकि इस बारे में अब तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि राजदीप ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।