Kangana Ranaut: इंडिगो ने 9 मीडियाकर्मियों पर लगाई पाबंदी, कंगना रनौत की फ्लाइट में हंगामे का मामला

Indigo Airlines: मीडियाकर्मियों पर 15 दिन के लिए लगी पाबंदी, फ्लाइट में नियमों का उल्लंघन करके वीडियो और फ़ोटो लेने का है आरोप

Updated: Oct 25, 2020, 12:19 PM IST

Kangana Ranaut: इंडिगो ने 9 मीडियाकर्मियों पर लगाई पाबंदी, कंगना रनौत की फ्लाइट में हंगामे का मामला
Photo Courtesy: NDTV

नई दिल्ली। प्राइवेट एयरलाइन कंपनी इंडिगो ने देश के 9 मीडियाकर्मियों पर 15 दिनों के लिए पाबंदी लगा दी है। इन मीडियाकर्मियों पर सुरक्षा नियमों और सोशल डिस्टेंसिंग के दिशा निर्देशों का उल्लंघन करके वीडियो और फ़ोटो लेने का आरोप है। कंपनी ने डायरेक्‍टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) के कड़ा रुख अपनाने के बाद इन मीडियाकर्मियों पर 15 से 30 अक्टूबर के लिए पाबंदी लगाई है।

दरअसल, बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत बीते 9 सितंबर को इंडिगो की फ्लाइट नंबर 6E-264 से चंडीगढ़ से मुंबई जा रही थीं। यह वह दौर था जब कंगना और शिवसेना के बीच जुबानी घमासान मचा हुआ था, जिस कारण कंगना मीडिया की सुर्खियों में थीं। यही वजह है कि कंगना के चंडीगढ़ से मुंबई जाने के दौरान कई पत्रकार उन्हें कवर करने के लिव उसी फ्लाइट में मौजूद थे।  इंडिगो के अनुसार इस दौरान मीडियाकर्मियों का बर्ताव अच्छा नहीं था। उन्होंने कंगना का वीडियो और फ़ोटो लेने के लिए सुरक्षा नियमों का उल्लंघन किया। जिससे उस फ्लाइट में अफरातफरी मच गई थी जिसे हैंडल करना मुश्किल था। विमान में सवार मीडियाकर्मी कंगना की तस्वीरों के लिए टूट पड़े थे।

डीजीसीए के निर्देश पर कार्रवाई

डायरेक्‍टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (डीजीसीए) ने 9 सितंबर की उस घटना का संज्ञान लेते हुए कड़ा रुख अख्तियार किया था। डीजीसीए ने इंडिगो से कहा था कि फ्लाइट में हंगामा करने वाले लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए। डीजीसीए ने उस घटना के बाद दिशा निर्देशों में बदलाव भी किए हैं। नए दिशा निर्देशों के मुताबिक अब फ्लाइट में बिना अनुमति के कोई फोटोग्राफी नहीं कर सकता। उड़ान के दौरान रेकॉर्डिंग करने वाले उपकरणों के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है। डीजीसीए के मुताबिक यात्री ऐसा कोई भी उपकरण इस्तेमाल नहीं कर सकते, जिससे भीड़-भाड़ हो या लोगों की सुरक्षा को खतरा हो।