मुकुल रॉय ने थामा टीएमसी का हाथ, कहा, मैं बीजेपी में नहीं रह पा रहा था, बंगाल ममता का है और रहेगा

मुकुल रॉय की वापसी पर ममता ने कहा कि उन्हें खुशी है कि मुकुल रॉय वापस आए हैं, टीएमसी केवल ईमानदार लोगों की जगह है

Updated: Jun 11, 2021, 06:00 PM IST

मुकुल रॉय ने थामा टीएमसी का हाथ, कहा, मैं बीजेपी में नहीं रह पा रहा था, बंगाल ममता का है और रहेगा
Photo Courtesy: ABP News

कोलकाता। पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल रॉय ने एक बार फिर टीएमसी का दामन थाम लिया है। मुकुल रॉय की टीएमसी में घर वापसी हो गई है। खुद ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने उन्हें पार्टी का पटका पहनाकर स्वागत किया। घर वापसी के मौके पर मुकुल रॉय और अभिषेक बनर्जी एक दूसरे के गले भी लगे। 

घर वापसी के बाद मुकुल रॉय ने कहा कि मैं बीजेपी में रह नहीं पा रहा था। मुकुल रॉय ने ममता की शान में कसीदे पढ़ते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल ममता का है और ममता का ही रहेगा। मुकुल रॉय ने कहा कि उन्हें घर आकर अब अच्छा लग रहा है। 

मुकुल रॉय की वापसी पर खुद मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भी अपनी खुशी जाहिर की। ममता ने कहा कि उन्हें खुशी है कि मुकुल वापस आए हैं। ममता ने कहा कि टीएमसी में हमेशा ईमानदार लोगों की जगह है। ऐसे कई और भी लोग हैं जो टीएमसी में आना चाहते हैं। 

यह भी पढ़ें : तृणमूल भवन पहुंचे मुकुल रॉय, टीएमसी में करेंगे वापसी

ममता ने कहा कि उन्होंने कभी किसी पार्टी को नहीं तोड़ा। किसी के पीछे एजेंसी लगाने का काम नहीं किया। ममता ने कहा कि जिन्होंने पैसे लेकर पार्टी की आलोचना की, पार्टी को दगा देने का काम किया, उनके लिए टीएमसी में कोई जगह नहीं है। ममता ने ऐसे नेताओं को गद्दार करार दिया है। 

दरअसल टीएमसी चुनाव से पहले पार्टी को छोड़ने वाले नेताओं को दो श्रेणियों में देख रही है। पहली श्रेणी सोफ्टलाइनर की है, जो पार्टी छोड़कर तो गए लेकिन कभी खुले तौर पर ममता बनर्जी और टीएमसी की आलोचना नहीं की। दूसरी श्रेणी हार्डलाइनर की है, जिन्होंने पार्टी भी छोड़ी और पाला बदलने के बाद टीएमसी और ममता बनर्जी को कोसने में कोई कसर नहीं छोड़ी।