अमरावती हत्याकांड का नूपुर शर्मा कनेक्शन, सरे राह गला रेतकर हुई थी केमिस्ट की हत्या, NIA ने शुरू की जांच

बीते 21 जून को अमरावती में केमिस्ट की गला रेतकर हुई थी हमला, पहले इसे लूट के लिए या फिर आपसी दुश्मनी में हत्या का मामला माना जा रहा था, हालांकि, बीजेपी नेताओं के दबाव के बीच अब पुलिस ने भी कहा है कि नुपुर शर्मा का समर्थन करने के कारण हत्या हुई है

Updated: Jul 02, 2022, 05:44 PM IST

अमरावती हत्याकांड का नूपुर शर्मा कनेक्शन, सरे राह गला रेतकर हुई थी केमिस्ट की हत्या, NIA ने शुरू की जांच

अमरावती। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या का अभी शांत भी नहीं हुआ की अमरावती हत्याकांड का भी नूपुर शर्मा कनेक्शन सामने आया है। पुलिस का कहना है कि केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे की हत्या नूपुर शर्मा को सपोर्ट करने के कारण हुई है। गृहमंत्री अमित शाह ने अब मामले की जांच एनआईए को सौंप दिया। केंद्रीय जांच एजेंसी अब आतंकी घटना की एंगल से इस पूरे मामले की जांच कर रही है।

दरअसल, कन्हैयालाल की हत्या से ठीक एक हफ्ते पहले, 54 वर्षीय केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे की 21 जून को महाराष्ट्र के अमरावती जिले में हत्या कर दी गई थी। घटना रात 10.30 बजे के करीब हुई जब उमेश कोल्हे मेडिकल स्टोर बंद करके घर जा रहे थे। कोल्हे का 27 वर्षीय पुत्र संकेत और पत्नी वैष्णवी एक अन्य स्कूटर पर थे। संकेत ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि रास्ते में बाइक सवार दो आदमी अचानक मेरे पिता की स्कूटी के सामने आए और उन्हें रोककर उनमें से एक ने उनकी गर्दन के बाईं ओर चाकू से वार कर दिया। मेरे पिता गिर गए और खून बह रहा था। इसके बाद वे फरार हो गए।

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी के खिलाफ झूठी खबर फैलाने के लिए जी न्यूज ने मांगी माफी, चैनल और BJP नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करेगी कांग्रेस

शुरुआत में ये लूट के लिए या फिर आपसी दुश्मनी में हत्या का मामला मानकर चल रही थी। लेकिन कन्हैयालाल कांड के बाद बीजेपी के लोगों ने दावा शुरू कर दिया कि नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट शेयर करने के कारण उनकी हत्या हुई है। पुलिस शुरुआत में कुछ कहने से बच रही थी। लेकिन अब पुलिस ने भी इसी वजह से हत्या की आशंका जताई है। सीनियर पुलिस अधिकारी विक्रम साली ने एनडीटीवी को बताया कि पुलिस इस मामले में अबतक 6 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। आरोपियों ने पुलिस से कहा है कि नूपुर का समर्थन करने के कारण उमेश की हत्या की गई।

गिरफ्तार आरोपियों में मुद्दसिर अहमद, शारुख पठान, अब्दुल तौफीक, शोहेब खान, अतिप रशीद और यूसुफ खान शामिल हैं। पूरे मामले की जांच के लिए NIA की एक टीम अमरावती पहुंच चुकी है। पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि कोल्हे ने व्हाट्सएप पर नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए पोस्ट मुस्लिम सदस्यों वाले एक ग्रुप में फॉरवर्ड किया था। इसके बाद आरोपियों ने उनकी हत्या की साजिश रची। बता दें कि इससे पहले बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर दो मुस्लिम युवकों ने उदयपुर में मंगलवार को एक दर्जी की दिनदहाड़े निर्मम हत्या कर दी थी। हत्या करने का बाद उन्होंने वीडियो जारी कर हत्या के पीछे पैंगबर मौहम्मद के आपमान का बदला लेने का कारण बताया था।