MP BJP Politics : दत्‍तीगांव से नाराज शेखावत को मनाएंगे मोघे

MP Assembly By Poll : बदनावर में भाजपा को भारी पड़ेगी जमीनी नेता भंवर सिंह शेखावत की नाराजी

Publish: Jun-26, 2020, 09:45 PM IST

MP BJP Politics : दत्‍तीगांव से नाराज शेखावत को मनाएंगे मोघे

बीजेपी उपचुनाव की तैयारी में पूरी तरह से जुट गई है, 24 सीटों में जीत के लिए कोई रिस्क नहीं लेना चाहती। तभी तो हर नाराज सदस्य को मनाने की कवायद जारी है। पहले कैलाश विजयवर्गीय ने बागी राजेश अग्रवाल को मनाया और जनता के सामने कुबूल भी करवा लिया कि वो बीजेपी परिवार के ही सदस्य हैं। अब बदनावर के भंवर सिंह शेखावत को मनाने का जिम्मा कृष्ण मुरारी मोघे को मिला है। मोघे ने भी दावा किया है कि भंवर सिंह पार्टी गाइडलाइन से हटकर कोई काम नहीं करेंगे। वहीं मोघे ने शेखावत की पीड़ा को स्वाभाविक बताया है।

दत्तीगांव के बीजेपी में शामिल होने से शेखावत थे नाराज

बागी विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव के बीजेपी में शामिल होने से भंवर सिंह शेखावत नाराज चल रहे थे। उन्होंने तो यहां तक कह दिया था कि बीजेपी और कांग्रेस की सोच और विचारधारा मेल नहीं खाती। शेखावत ने अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा था कि “हम लोग जानते हैं कि दत्तीगाँव ने बीजेपी के प्रति अपनी वफादारी क्यों बदल दी”। अब बीजेपी से रूठे भंवर सिंह शेखावत को मनाने की जिम्मा बीजेपी के कद्दावर नेता और बदनावर विधानसभा सीट के बीजेपी प्रभारी कृष्ण मुरारी मोघे को मिला है।

कृष्ण मुरारी मोघे रूठे शेखावत को मनाने में जुटे

कृष्ण मुरारी मोघे भंवर सिंह शेखावत को मनाने में जुट गए हैं। इस बारे में कृष्ण मुरारी मोघे का कहना है कि उनकी भंवर सिंह शेखावत से चर्चा हो चुकी है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि जल्द ही भंवर सिंह शेखावत बदनावर में जवाबदारी संभाल लेंगे। कृष्ण मुरारी मोघे का कहना है कि भंवर सिंह शेखावत की पीड़ा स्वाभाविक है, लेकिन वर्तमान हालात में राजेश अग्रवाल के बीजेपी में वापस आने से यहां अनुकूल वातावरण बना है। वहीं मोघे ने दावा किया है कि बीजेपी ही बदनावर सीट जीतेगी क्योंकि यहां राजवर्धन सिंह दत्तीगांव की अच्छी पैठ है।

बदनावर जीत की राह में हैं कई रोड़े

धार जिले की बदनावर विधानसभा सीट काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है, जहां से राजवर्धन सिंह दत्तीगांव तीन बार विधायक बने चुके हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में उन्होंने 2018 में बीजेपी के भंवर सिंह शेखावत को 41,506 वोट से हराया था। वहीं अब राजवर्धन सिंह बीजेपी के कुनबे में शामिल हो गए हैं। बीजेपी को विश्वास है की उप चुनाव में दत्तीगांव इस सीट पर जरूर जीत हासिल करेंगे। लेकिन दत्तीगांव की राह में कई कठिनाईयां आ रही है जो उनकी जीत की राह में रोड़ा खड़ा कर सकती है।

पहले भी पार्टी के फैसलों से नाराज हो चुके हैं शेखावत

गौरतलब है कि गौरव रणदिवे को इंदौर नगर अध्यक्ष बनाने पर अब BJP नेता भंवर सिंह शेखावत ने अपनी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। भंवर सिंह शेखावत ने गौरव रणदिवे को एक नौसिखिया नेता कहा था । भंवर सिंह शेखावत ने कहा था कि गौरव रणदिवे एक नौसिखिया नेता है। उनके पास पर्याप्त अनुभव नहीं है,