ब्रिटिश पीएम पद की रेस से पीछे हटे बोरिस जॉनसन, जीत के करीब पहुंचे ऋषि सुनक

पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने खुद को पीएम पद की रेस से अलग कर दिया है। रविवार को उन्होंने खुद ऐलान करते हुए ब्रिटेन के अगले पीएम बनने से इनकार कर दिया है। ऐसे में अब भारतीय मूल के ऋषि सुनक इस पद के लिए जीत के और भी करीब पहुंच गए हैं।

Updated: Oct 24, 2022, 10:53 AM IST

ब्रिटिश पीएम पद की रेस से पीछे हटे बोरिस जॉनसन, जीत के करीब पहुंचे ऋषि सुनक

लंदन। ब्रिटेन में चल रहे सियासी उठा-पटक के बीच पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने खुद को पीएम पद की रेस से अलग कर दिया है। उन्होंने रविवार को अपनी एक घोषणा में सबको चौंका दिया। उन्होंने कहा कि वह कंजरवेटिव पार्टी के नेतृत्व की दौड़ में नहीं उतरेंगे। ऐसे में अब भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री चुने जाने के सबसे करीब पहुंच गए हैं।

रिपोर्ट्स के अनुसार, 55 वर्षीय पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने दावा किया कि उन्हें सांसदों का पूरा समर्थन मिल रहा है लेकिन वह इसके बावजूद भी पीएम की रेस में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि 'आप प्रभावी ढंग से शासन नहीं कर सकते जब तक कि आपके पास संसद में एक संयुक्त पार्टी न हो इसलिए ऐसा करना सही नहीं होगा।'  बता दें कि जुलाई में कई घोटालों के बाद उन्हें तीन महीने पहले ही पीएम पद छोड़ना पड़ा था।

यह भी पढ़ें: हमले के बाद सलमान रुश्दी की एक आंख की रोशनी गई, एक हाथ ने भी काम करना बंद किया

जॉनसन ने  कहा, 'मेरा मानना ​​​​है कि मेरे पास देने के लिए बहुत कुछ है लेकिन यह सही समय नहीं है।' बता दें कि जॉनसन ने औपचारिक रूप से अभी तक अपनी उम्मीदवारी की घोषणा नहीं की थी। उन्हें लगभग 59 टोरी सांसदों का सार्वजनिक समर्थन प्राप्त था, जिनमें कुछ हाई-प्रोफाइल कैबिनेट सदस्य भी शामिल थे। ब्रिटिश भारतीय पूर्व चांसलर ऋषि सुनक को पीएम रेस में कंजर्वेटिव पार्टी के 128 सांसद समर्थन कर रहे हैं जो पीएम बनने के लिए न्यूनतम 100 के आंकड़े से काफी ज्यादा है।

इससे पहले 20 अक्टूबर को लिज ट्रस ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। ट्रस केवल 45 दिनों के लिए प्रधानमंत्री पद पर रही हैं। यह किसी भी ब्रिटिश प्रधानमंत्री का अब तक का सबसे छोटा कार्यकाल रहा है। डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर उन्होंने कहा था, ‘मैं वह काम नहीं कर सकी जिसके लिए मैं चुनी गई थी।' ट्रस ने माफी मांगी थी और कहा था, ‘मुझसे गलतियां हुई हैं।’