शादी से पहले ही दो बच्चों का पिता बना दूल्हा, एक ही मंडप में दो दुल्हनों संग रचाई शादी

रजन सिंह की सगाई दुर्गेश्वरी से हो गई थी और वह आदिवासी परंपरानुसार रजन सिंह के घर रहने लगी जिससे उसने एक बेटी को जन्म दिया और इसी बीच रजन सिंह को सन्नो बाई से प्रेम हो गया और सन्नो ने भी एक बेटी को जन्म दे दिया।

Updated: Jun 10, 2022, 03:23 PM IST

शादी से पहले ही दो बच्चों का पिता बना दूल्हा, एक ही मंडप में दो दुल्हनों संग रचाई शादी
Photo Courtesy: News 18

कोंडागांव। छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिला में एक दूल्हे ने अपनी दो प्रेमिकाओं के साथ एक ही मंडप में अनूठी शादी की है। ये शादी दोनों लड़कियों के परिजनों सहित आदिवासी समाज से सभी लोगों की रजामंदी से हुई है। इस शादी की चर्चा अब छत्तीसगढ़ के साथ साथ पूरे देश में हो रही है। इस विवाह की खास बात ये है कि दुल्हा शादी से पहले ही अपनी दोनों प्रेमिकाओं की एक-एक बेटी का बाप बन गया और मंडप में दुल्हनों की गोद में उनकी बेटियां भी बैठी थी। इसके साथ ही शादी के लिए छपवाए गए कार्ड में दोनों युवतियों के नाम भी लिखवाए गए।

छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिला के ईरागांव थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम अमला निवासी रजन सिंह पिता सुखराम सलाम की शादी ग्राम आडेंगा निवासी दुर्गेश्वरी मरकाम और ग्राम आंवरी निवासी सन्नो बाई गोटा से हुई है। दरअसल रजन सिंह की सगाई दुर्गेश्वरी से हो गई थी और वह आदिवासी परंपरानुसार रजन सिंह के घर रहने लगी जिससे उसने एक बेटी को जन्म दिया और इसी बीच रजन सिंह को सन्नो बाई से प्रेम हो गया और प्रेम इस कदर आगे बढ़ा की, सन्नो ने भी एक बेटी को जन्म दे दिया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली: जामा मस्जिद के बाहर जोरदार विरोध प्रदर्शन, नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग, जमकर हो रही नारेबाजी

इस घटना की जानकारी लगते ही समाज में रजन के परिवार का विरोध शुरू हो गया। रजन ने कहा कि वह दोनों युवतियों से प्रेम करता है और दोनों से शादी करने के लिए तैयार है। युवतियों और उनके परिजनों ने भी शादी के लिए सहमति दे दी। इससे पहले मध्य प्रदेश के बैतूल के घोड़ाडोंगरी में एक आदिवासी युवक ने एक ही मंडप में दो दुल्हनों से शादी की थी।