सेक्स रैकेट चलाने के आरोपी भाजपा नेता को मिली जमानत, मेघालय पुलिस नहीं दे पाई पर्याप्त सुबूत

मेघालय बीजेपी के कद्दावर नेता बर्नार्ड एन मारक के फार्म हाऊस से 27 वाहन, 8 दोपहिया वाहन, करीब 400 बोतल शराब, 500 से अधिक कंडोम जब्त किए गए थे।

Updated: Oct 03, 2022, 09:41 AM IST

सेक्स रैकेट चलाने के आरोपी भाजपा नेता को मिली जमानत, मेघालय पुलिस नहीं दे पाई पर्याप्त सुबूत

शिलांग। देश के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय में बीते दिनों एक बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ था। यहां बीजेपी के वरिष्ठ नेता बर्नार्ड एन मारक द्वारा वेश्यालय चलाया जा रहा था। हाईकोर्ट ने उसे जमानत दे दी है। दरअसल, मेघायल पुलिस ही मारक के खिलाफ पर्याप्त सुबूत देने में असफल रही जिससे ये साबित किया जा से की वह अवैध गतिविधियों में लिप्त था।

हाईकोर्ट ने बर्नाड एन मारक को शनिवार को जमानत देते हुए शर्त लगाई कि वह भागेंगे नहीं और सबूतों के साथ छेड़छाड़ नहीं करेंगे। वे देश छोड़कर भी नहीं जाएंगे और जांच में सहयोग करेंगे। अदालत ने उन्हें 50 हजार रुपये का निजी मुचलका भरने और दो जमानतदारों को भी पेश करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने मराक से 50,000 रुपये के निजी मुचलके के साथ इतनी ही राशि के दो सॉल्वेंट जमानत देने के लिए भी कहा गया था। न्यायमूर्ति डब्ल्यू डिएंगदोह ने अदालत के आदेश में कहा, 'आरोपी बर्नार्ड एन मराक को अन्य मामलों में वांछित नहीं होने पर जमानत पर रिहा करने का निर्देश दिया जाता है, बशर्ते निम्नलिखित शर्तों का पालन किया जाए।'

कोर्ट ने कहा कि गवाहों के बयान और रिकॉर्ड पर मौजूद साक्ष्यों से आरोपी को कथित अपराध से जोड़ने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं, क्योंकि इस बात का कोई प्रारंभिक सबूत नहीं है कि घटनास्थल को वेश्यालय के रूप में इस्तेमाल किया गया है। साथ ही यह साबित करने के लिए भी कोई सबूत नहीं है कि वहां वेश्यावृत्ति को अंजाम दिया गया।

यह भी पढ़ें: वेश्यालय चलाने के साथ ही आतंकी गतिविधियों में भी लिप्त था BJP उपाध्यक्ष, फार्महाउस से मिला विस्फोटक

बता दें कि पूर्व में उग्रवादी रह चुके बर्नार्ड एन मराक को उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने मेघालय के तुरा में उनके फार्महाउस पर छापेमारी की थी। छापेमारी के बाद फार्महाउस से छह नाबालिगों को छुड़ाया गया था और 73 लोगों को गिरफ्तार करने के साथ 500 पैकेट गर्भनिरोधक, 400 बोटल शराब, आपत्तिजनक सामान और दर्जनों वाहन बरामद किए थे। इस मामले में तुरा महिला थाने में भाजपा नेता के खिलाफ अनैतिक तस्करी (रोकथाम) अधिनियम, 1956 की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था।