सोनिया गांधी से पूछताछ और राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर देशभर में उबाल, ED दफ्तरों पर लगे BJP के होर्डिंग्स

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक सड़कों पर उतरे कांग्रेस कार्यकर्ता, भोपाल और रायपुर में ईडी दफ्तर के बाहर लगाया बीजेपी का होर्डिंग, यूथ कांग्रेस ने दी तालाबंदी की चेतावनी

Updated: Jul 26, 2022, 11:28 PM IST

सोनिया गांधी से पूछताछ और राहुल गांधी की गिरफ्तारी पर देशभर में उबाल, ED दफ्तरों पर लगे BJP के होर्डिंग्स

नई दिल्ली। सोनिया गांधी से पूछताछ और राहुल गांधी की गिरफ्तारी के खिलाफ मंगलवार को देशभर में उबाल देखने को मिला। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक कांग्रेस कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए और उन्होंने एजेंसियों के दुरुपयोग के खिलाफ आवाज बुलंद की। इस दौरान कई राज्यों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस बल के बीच गतिरोध भी देखने को मिला।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में ईडी दफ्तरों के बाहर बीजेपी कार्यालय के होर्डिंग्स लगा दिए गए। राजधानी भोपाल में मंगलवार दोपहर सैंकड़ों की संख्या में युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अरेरा हिल्स स्थित ईडी दफ़्तर का घेराव कर नारेबाजी की। इस दौरान यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ईडी के अधिकारियों को चेतवानी देते हुए कहा कि अगर झूठे मामले बंद नहीं किए गए तो अगली बार तालाबंदी की जाएगी। 

मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने कहा कि, 'स्वतंत्र जांच एजेंसी के रूप में काम करने वाली ईडी अब भाजपा सरकार की कठपुतली की तरह काम कर रही है। ED मोदी सरकार के इशारे पर विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए कांग्रेस के नेताओं को षडयंत्र पूर्वक बदनाम करने के लिए झूठे मामले रच रही है। ताकि देश की जनता को गुमराह कर मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाया जा सके। लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार अपनी इस साजिश में कामयाब नही हो पाएगी।'

मध्य प्रदेश के ही इंदौर में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ईडी दफ्तर पर कालीखें पोत दी। हालांकि, तब वहां भारी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद थे। पुलिस अधिकारियों ने कालिख पोतने वाले युवक कांग्रेस कार्यकर्ता को पकड़कर बेरहमी से पिटाई की। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो भी सामने आया है, जिसमें पुलिसकर्मी युवक को पीटते देखे जा सकते हैं। 

बता दें कि नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को दूसरे दौर की पूछताछ के लिए प्रवर्तन निदेशालय बुलाया गया था। ईडी के खिलाफ संसद भवन परिसर में कांग्रेस सांसद विरोध प्रदर्शन और सत्याग्रह कर रहे थे। लेकिन यहां आकर दिल्ली पुलिस ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत अन्य सांसदों को हिरासत में ले लिया। 

दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान कई नेताओं के साथ पुलिस द्वारा दुर्व्यहार का मामला भी सामने आया है। एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है कि पुलिसकर्मी यूथ कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी के साथ अभद्रता की सारी सीमाएं पार कर रहे हैं। हिरासत में लिए जाने के बाद कांग्रेस सांसद महंगाई, अग्निपथ योजना व अन्य मुद्दों पर चर्चा करते दिखे। 

कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा, हम संसद में महंगाई, बेरोजगारी, अग्निपथ, सरकारी एजेंसियों के दुरुपयोग पर चर्चा की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार इसके लिए तैयार नहीं। राजघाट पर शांतिपूर्ण विरोध की अनुमति मांगी लेकिन अनुमति नहीं दी। राष्ट्रपति जी को ज्ञापन देने की भी अनुमति नहीं मिली और पुलिस हिरासत में लिया गया। 

गिरफ्तारी के बाद राहुल गांधी ने कहा कि हमारा हौसला नहीं तोड़ पाएंगे। उन्होंने ट्वीट किया, 'देश के ‘राजा’ का हुक्म है - जो बेरोज़गारी, महंगाई, गलत GST, अग्निपथ पर सवाल पूछेगा - उसे कारागृह में डाल दो। भले ही मैं अभी हिरासत में हूं, भले ही देश में अब जनता की आवाज़ उठाना जुर्म हो, लेकिन वो हमारा हौसला कभी नहीं तोड़ पाएंगे। 

राहुल गांधी ने हिरासत में लिए जाने से पहले कहा कि भारत में पुलिस का राज है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी एक राजा है।